Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरायबरेलीशिक्षक कभी सेवानिवृत्त नही होता : मनोज कुमार

शिक्षक कभी सेवानिवृत्त नही होता : मनोज कुमार

  • शिक्षकों की विदाई में छलके आंसू
  • पीएमश्री केवी शिवगढ़ में विदाई समारोह सम्पन्न

शिवगढ़,रायबरेली। क्षेत्र के पीएमश्री केंद्रीय विद्यालय शिवगढ़ में सेवानिवृत्त शिक्षक राजीव तिवारी, मीरा श्रीवास्तव को नाम आंखों से भावभीनी विदाई दी गई। गौरतलब हो कि पिछले 2 वर्षों से केंद्रीय विद्यालय शिवगढ़ में तैनात गणित प्रवक्ता राजीव तिवारी ने जहां स्वैक्षिक सेवानिवृत्ति ली है वहीं पिछले 9 वर्षों से केंद्रीय विद्यालय शिवगढ़ में अच्छी सेवाएं दे रही मीरा श्रीवास्तव सेवाकाल की समयावधि पूरी होने पर सेवानिवृत्ति हुई है। दोनों शिक्षकों ने अपने सरल एवं मिलनसार व्यक्तित्व के चलते छात्र-छात्राओं एवं शिक्षक-शिक्षकाओं के हृदय में गहरी जगह बना रखी है।

शिक्षकों की सेवानिवृत्ति पर साथी शिक्षकों द्वारा विद्यालय में विदाई समारोह का आयोजन किया गया जिसमें विदाई देते वक्त छात्र-छात्राओं एवं शिक्षक, शिक्षकाओं की आंखें नम हो गई। विदाई समारोह में साथी शिक्षक-शिक्षकाओं ने दोनों शिक्षकों को प्रतीक चिन्ह एवं उपहार देकर सम्मानित करते हुए उनके योगदान को याद किया। विद्यालय के प्राचार्य मनोज कुमार ने कहाकि शिक्षक कभी सेवानिवृत नहीं होता,एक अच्छा शिक्षक सेवाकाल समाप्ति के बाद भी लोगों का मार्गदर्शन करता रहता है। सेवानिवृत्त गुरुजनोें ने हमेशा एक शिल्पकार की भांति बच्चों को गढ़कर देश के योग्य नागरिक बनाने का का किया है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के प्रति समर्पण के साथ-साथ इसे जीवन मंत्र बनाने के लिए शिक्षकों की सराहना की जानी चाहिए।

एक शिक्षक आजीवन ज्ञान की धारा से जुड़ा रहता हैं। वह कार्य से निवृत हो सकता है, लेकिन शिक्षाकार्य से कभी निवृति नहीं ले सकता है। शिक्षाविशारदों को गुरु एवं शिष्‍य की प्राचीन पावन परम्परा को फिर से स्‍थापित करने की दिशा में काम करना चाहिए, ताकि विद्यार्थीगण आजीवन अपने शिक्षकों को स्‍मरण करें।शिक्षक महेश शुक्ला ने कहा कि माता-पिता बच्चे को जन्म देते हैं। उनका स्थान कोई नहीं ले सकता, लेकिन एक शिक्षक ही है जिसे हमारी भारतीय संस्कृति में माता-पिता के बराबर दर्जा दिया जाता है, क्योंकि शिक्षक ही हमें समाज में रहने योग्य बनाता है।

शिक्षक को ‘समाज का शिल्पकार’ कहा जाता है। इस मौके पर शिक्षक सुशील शुक्ला, अवधेश बाजपेई, समसीर आजमी, अंजनी मिश्रा, पुष्पा तिवारी, रवि कुमार,जय नारायण यादव, कमलाकांत,अनुराधा तिवारी, संदीप, आशीष सिंह,शैलेश श्रीवास्तव,अखिल सिंह, रीतू कपाड़िया, कविता रावत, निखिल पटेल, पुष्पा तिवारी,रोली पाल,शालिनी सिंह आदि शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Angad rahi
दबाव और प्रभाव में खब़र न दबेगी,न रुकेगी
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments