Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरायबरेलीलखन हृदय लालसा बिसेषी, जाइ जनकपुर आइअ देखी....

लखन हृदय लालसा बिसेषी, जाइ जनकपुर आइअ देखी….

  • श्री ब्रम्हदेव बाबा के मेले में पहले दिन उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़
  • जीवन्त अभिनय देखकर टस से मस नही हुए रामलीला प्रेमी

शिवगढ़,रायबरेली। शिवगढ़ नगर पंचायत के सिंहपुर में आयोजित श्री ब्रम्हदेव बाबा के 2 दिवसीय मेले में पहले दिन श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रही। रामलीला में गुरु विश्वामित्र राजा दशरथ के दरबार पहुंचे और यज्ञ करते समय राक्षसों के उत्पात की व्यथा सुनाई राक्षसों के संहार के लिए उन्होने राजा दशरथ से राम लक्ष्मण को साथ भेजने का आग्रह किया। इसके साथ ही माता अहिल्या का उद्धार,जनकपुर में गुरु विश्वामित्र, राम-लखन के स्वागत का भव्य जीवान्त मंचन किया गया।

रामलीला में पहले दिन राजा जनक ने गुरु विश्वामित्र के पास निमंत्रण भेजकर सीता स्वयंवर के लिए आमंत्रित किया। जिसके बाद गुरु विश्वामित्र राम- लखन के साथ जंगल मार्ग से होते हुए जनकपुर के लिए प्रस्थान करते हैं रास्ते में महर्षि गौतम ऋषि का आश्रम मिलता है जहाँ माता अहिल्या का उद्धार करते हैं। जिसके बाद राम-लखन मां गंगा की आरती एवं उनके दर्शन करते हैं और घाट पर बैठे पुरोहितों को दक्षिणा देकर आशीर्वाद और विदा लेते हैं। जनकपुर पहुंचने पर राजा जनक द्वारा गुरु विश्वामित्र और राम लखन का भव्य स्वागत,सम्मान किया जाता है। लखन के हृदय में विशेष लालसा है कि जाकर जनकपुर देख आएँ, परंतु प्रभु राम का डर है और फिर मुनि से भी सकुचाते हैं, इसलिए संकोच वश कुछ नहीं कहते, मन-ही-मन मुसकरा रहे हैं। गुरु की आज्ञा पाकर राम-लखन संध्या पूजा के लिए पुष्प वाटिका फूल तोड़ने जाते हैं। राजा जनक द्वारा सीता स्वयंवर की घोषणा की जाती है।

रामलीला देखने आए बच्चों और पुरुषों के साथ ही बड़ी तादात में मौजूद महिला दर्शकों से पूरा पण्डाल भरा रहा, रामलीला देख रहे दर्शक तक टस से मस नहीं हुए। रामलीला के दौरान जय श्रीराम और श्री ब्रम्हदेव बाबा के जयकारों से समूचा मेला परिसर गूंजता रहा। श्री संगम वीर बाबा रामलीला कमेटी नरायणपुर के कलाकार कार्तिक पांडेय ने राम का, प्रशांत पांडेय ने लक्ष्मण का, सत्यम सिंह ने सीता का, गिरिजा शंकर द्विवेदी ने विश्वामित्र का, जगदीश शर्मा ने राजा दशरथ का, चंद्रलाल रावत ने रावण का, सुरेश पांडेय ने सुबाहु का, छेदीलाल बाबा ने बाणासुर का, मामा मारीच ने पीतांबर का अद्भुत एवं जीवन्त मंचन किया गया।

रामलीला में सफल निर्देशन संचालक राम लखन द्वारा किया गया। इस मौके पर मेला कमेटी के पंकज मिश्रा, सुधांशु श्रीवास्तव, सुरेश चतुर्वेदी, भानु श्रीवास्तव, अनिल श्रीवास्तव,देवी बक्स सिंह, विकास गोस्वामी, राजकुमार पाल,राजन मिश्रा,सुखराम, राजू द्विवेदी, रामफेर शर्मा, मनोज कनौजिया,अबिरल गोस्वामी, सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments