Wednesday, February 28, 2024
Homeउत्तर प्रदेशशिवगढ़ रजबहा के कटने से सैकड़ों बीघे धान की फसल जलमग्न

शिवगढ़ रजबहा के कटने से सैकड़ों बीघे धान की फसल जलमग्न

  • धान की फसल जलमग्न होने से चिंता में डूबे किसान

शिवगढ़,रायबरेली। शिवगढ़ राजबहा के कटने से सैकड़ों बीघे धान की फसल जलमग्न हो गई। 8 घण्टे की कड़ी मशक्कत के बाद भी रजबहा की कटी हुई पटरी को नहीं बांधा जा सका। गौरतलब हो कि शुक्रवार की रात 2 से 3 बजे के दरमियान थाना क्षेत्र के कुर्मी पलिया के पास शिवगढ़ रजबहा की पटरी कटने से कुर्मी पलिया, पासिन पलिया,पिण्डौली,सेहगों,तमनपुर के किसानों की सैकड़ों बीघे धान की फसल जलमग्न हो गई। जिससे किसान चिंता में डूब गए हैं।

शनिवार की भोर जब खेतों की ओर शौच को गए किसानों ने देखा तो सैकड़ों बीघे धान की फसल के साथ ही सड़क एवं गांव में स्थित प्राथमिक विद्यालय जलमग्न हो गया था। जिसकी जानकारी होते ही किसानों में अफरा-तफरी मच गई। जिसकी जानकारी ग्राम प्रधान एवं किसानों द्वारा सिंचाई विभाग के आला अधिकारियों को दी गई। जिसकी जानकारी होते ही सिंचाई विभाग ने रुग्लेटर से पानी बन्द करा दिया। और श्रमिकों को बुलाकर रजबहा कटी हुई पटरी बंधानी शुरू कर दी।

पानी का बहाव इतना तेज था कि श्रमिक जैसे ही बालू से भरी बोरियां लगाते बालू सहित बोरियां पानी के साथ बह जा रही थी। करीब 10 घण्टे की कड़ी मशक्कत के बाद भी खबर लिखे जाने तक रजबहा की कटी हुई पटरी को नहीं बांधा जा सका हालांकि शाम तक पटरी को बांधे जाने का सिलसिला जारी रहा‌।

जेई रमाकान्त ने बताया कि अधिक जलभराव होने के चलते जेसीबी मशीन मौके पर जेसीबी मशीन नहीं जा सकती लेबरों से कटी हुई पटरी बंधवाई जा रही है। उन्होंने बताया कि जिस स्थान पर नहर कटी है उसके आस-पास हर तीसरे चौथे साल किसानों द्वारा चोरी से नहर कटिंग कर दी जाती है। जिसका खामियाजा दूसरे किसानों को भुगतना पड़ जाता है।

Angad rahi
दबाव और प्रभाव में खब़र न दबेगी,न रुकेगी
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments