Wednesday, February 28, 2024
Homeउत्तर प्रदेशकेंद्रीय विद्यालय रायबरेली में राष्ट्रीय शिक्षा नीति की तीसरी वर्षगांठ के उपलक्ष्य...

केंद्रीय विद्यालय रायबरेली में राष्ट्रीय शिक्षा नीति की तीसरी वर्षगांठ के उपलक्ष्य में प्रेस वार्ता का आयोजन

Raebareli : केंद्रीय विद्यालय रायबरेली में राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की तीसरी वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित जनपद स्तरीय कार्यक्रम के क्रम में गुरुवार  को एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया | इस आयोजन में जनपद रायबरेली के सभी बोर्डों/ प्रमुख शैक्षणिक संस्थाओं के प्रमुख, हितधारकों एवं शिक्षा क्षेत्र के जनपद स्तरीय अधिकारियों की गरिमामयी उपस्थिति रही| प्रेस वार्ता मुख्य रूप से राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के प्रमुख उद्देश्य,लक्ष्य,व्यापकता एवं उसके प्रभावी रूप से क्रियान्वयन पर केन्द्रित रही| इस अवसर पर विद्यालय में पधारे समस्त सम्मानित आगंतुकों द्वारा विद्यालय परिसर में पौधरोपण भी किया गया|


प्रेस वार्ता का आरंभ केंद्रीय विद्यालय रायबरेली की उप प्राचार्य  पुनीता ज्योति ने आए हुये अतिथियों एवं मीडियाकर्मियों के स्वागत करने के साथ किया | प्रेस वार्ता में वक्ता के रूप में सर्वप्रथम केंद्रीय विद्यालय शिवगढ़ के प्राचार्य  मनोज कुमार ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर प्रकाश डालते हुये कहा कि यह नीति 21वीं सदी की आवश्यकताओं के अनुकूल व्यापक-आधारित, लचीली, बहु-विषयक शिक्षा के माध्यम से भारत को एक जीवंत समाज और वैश्विक ज्ञान की महाशक्ति में बदलना एवं 21वीं सदी के भारत/आत्मनिर्भर भारत के लिए ,प्रत्येक छात्र की अद्वितीय क्षमताओं को सामने लाना, उसके रटने के बजाय आलोचनात्मक सोच को बढ़ावा देना, पढ़ाई के बजाय सीखने पर ध्यान केंद्रित करना, वैज्ञानिक स्वभाव को प्रोत्साहन देना, शिक्षार्थियों में भारतीय होने का गहरा गौरव पैदा करना और ज्ञान, कौशल और मूल्यों का विकास करना जो उन्हें वास्तव में वैश्विक नागरिक बनाते हैं की मंशा को आधार मनाने पर केन्द्रित है|

वार्ता के क्रम को आगे बढ़ाते हुये केंद्रीय विद्यालय एम.सी.एफ.लालगंज के प्राचार्य  वी.पी.सिंह ने स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में प्रमुख उपलब्धियां बताते हुये कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में पीएम स्कूल फॉर राइजिंग इंडिया, निपुण भारत: मूलभूत साक्षरता और संख्यात्मकता पर राष्ट्रीय मिशन, एनसीएफ एफएस पर आधारित जादूई पिटारा: लर्निंग टीचिंग मटेरियल, पीएम ई-विद्या: पीएम ई-विद्या जैसे महत्वपूर्ण परियोजनाओं के माध्यम विद्यार्थियों के सतत एवं चहुंमुखी विकास पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है|

जवाहर नवोदय विद्यालय रायबरेली के प्राचार्य चन्दन वागीश ने कहा कि एनईपी 2020 का लक्ष्य 2030 तक स्कूली शिक्षा में 100% जीईआर के साथ प्री-स्कूल से माध्यमिक स्तर तक शिक्षा का सार्वभौमिकरण करना है।
इसी क्रम में दयावती मोदी पब्लिक स्कूल,रायबरेली की प्राचार्य  प्रेरणा श्रीवास्तव ने बताया कि एनईपी 2020 में 12 साल की स्कूली शिक्षा और 3 साल की प्री-स्कूलिंग के साथ नया 5+3+3+4 स्कूल पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है|

खंड शिक्षाधिकारी,नगर क्षेत्र, रायबरेली  प्रियंका सिंह ने कहा कि एनईपी 2020 का उद्देश्य बुनियादी साक्षरता और संख्यात्मकता पर जोर देते हुये स्कूलों में शैक्षणिक धाराओं, पाठ्येतर धाराओं के बीच कोई मजबूत अलगाव नहीं कराना तथा वंचित क्षेत्रों और समूहों के लिए विशेष शिक्षा क्षेत्र विकसित करना है|
प्रेस वार्ता के अंत में केंद्रीय विद्यालय रायबरेली की उप प्राचार्य  पुनीता ज्योति ने अपने सम्बोधन में समस्त आगंतुक वक्ताओं,मीडियाकर्मियों एवं कार्यक्रम से जुड़े विद्यालय के समस्त अध्यापकों एवं कर्मचारियों को धन्यवाद ज्ञापित करते करते हुये कहा कि एनईपी 2020 का लक्ष्य आने वाली युवा पीढ़ी में नैतिकता का विकास करते हुये उन्हें आत्मविश्वास से परिपूर्ण एक योग्य एवं कुशल व्यक्तित्व का निर्माण करना है| कार्यक्रम का सञ्चालन डॉ.कौशलेन्द्र सिंह ने किया |
विद्यालय के प्राचार्य  संजीव कुमार अग्रवाल के कुशल दिशा-निर्देशन में कार्यक्रम को सफल बनाने में  आर.बी.शर्मा,प्रधानाध्यापक प्रथम पाली,  कमलेश कुमार प्रधानाध्यापक द्वितीय पाली, अभिषेक सिंह, मीनेश सिंह, मोहित कुमार त्रिपाठी, अमित कुमार सिंह, आशुतोष मिश्र, अमित चौहान सहित समस्त स्टाफ का पूर्ण योगदान रहा|

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments