Wednesday, February 28, 2024
Homeउत्तर प्रदेशबाबा जयगुरुदेव संगत शिवगढ़ द्वारा आयोजित मासिक भण्डारा सम्पन्न

बाबा जयगुरुदेव संगत शिवगढ़ द्वारा आयोजित मासिक भण्डारा सम्पन्न

  • भण्डारे में सैकड़ो श्रद्धालुओं ने ग्रहण किया प्रसाद
  • 200 गरीब,बेसहारा,वृद्धों, दिव्यांगों एवं जरूरतमंदों को वितरित किए गए कंबल

शिवगढ़,रायबरेली। बाबा जयगुरुदेव संगत शिवगढ़ द्वारा क्षेत्र के भवानीगढ़ चौराहे पर त्रयोदशी मासिक भडारे एवं कंबल वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें पूण्य की लालसा से पहुंचे सैकड़ों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण कर मनोकामनाएं मांगी। गौरतलब हो कि बाबा जयगुरुदेव के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी संत उमाकांत जी महराज के निर्देश पर बाबा जयगुरुदेव संगत शिवगढ़ द्वारा प्रत्येक माह की त्रयोदशी को बाबा जयगुरुदेव नाम जप,सत्संग,विशाल भण्डारे एवं जन जागरण अभियान का आयोजन किया जाता है। रविवार को क्षेत्र के भवानीगढ़ चौराहे पर आयोजित कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष रामशंकर पाल ने भण्डारे में आए श्रद्धालुओं को संत उमाकांत जी महराज का संदेश सुनते हुए कहा कि यहां हर किसी के कर्मों का फैसला होता है।

विपदा एवं संकट से बचने के लिए शाकाहारी, सदाचारी जीवन अपनाना होगा। विश्व को प्रलय से बचाने के लिए लोगों को मांस, मदिरा का त्याग करने के लिए प्रेरित करना होगा। राम शंकर पाल ने सत्संग में आए लोगों को शाकाहारी बनने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि सभी को ईमानदारी से नियमों का पालन करना होगा और जन जागरण अभियान चलाकर सभी को शाकाहारी बनने के लिए प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि जो भक्त जयगुरुदेव से जीवन की डोर जोड़ लेता है, उसे इस भौतिक संसार में किसी भी तरह से कष्ट नहीं होता है। परिवार में सुख-शांति, समृद्धि बनी रहती है। उन्होंने कहा कि गुरु ज्ञान की वह ज्योति है, जिसके प्रकाश के सहारे हम मुक्ति के द्वार तक जा सकते है।

इस ज्ञानरूपी प्रकाश के बिना इस संसार में हम भटकते रहते है और कई जन्मों के सत्कर्मो के उपरांत प्राप्त होने वाला मानव जीवन व्यर्थ में ही चला जाता है। गुरु की शरण में रहकर अपना जीवन सार्थक बनाना चाहिए। सत्संग के बाद भंडारे के आयोजन किया गया जिसमें 200 से अधिक गरीबों को कंबल भी वितरित किए गए। इस मौके पर जयशंकर प्रसाद, हुबलाल, राकेश सैनी, वीरेंद्र सिंह, अखिलेश साहू, रामशरण यादव, जय श्री सैनी,रमेश कुमार तिवारी सहित भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments