Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तर प्रदेशKharmas 2023 Date: प्रारंभ हुए खरमास बंद होंगे 1 माह के लिए...

Kharmas 2023 Date: प्रारंभ हुए खरमास बंद होंगे 1 माह के लिए सभी शुभ कार्य

श्री डेस्क :16 दिसंबर 2023 से प्रारंभ हुए खरमास बंद होंगे 1 माह के लिए सभी शुभ कार्य देवउठनी एकादशी से सभी शुभ कार्यों का प्रारंभ किया जाता है लेकिन 16 दिसंबर शनिवार से नहीं किए जाएंगे क्योंकि शुभ कार्य 16 दिसंबर से खरमास के दिन प्रारंभ हो जाएंगे जो की पूरी एक माह तक सभी शुभ कार्यों पर अंकुश लग जाएगा खरमास का महीना पूरे एक माह तक मनाया जाएगा यह महीना 15 दिसंबर से लेकर 15 जनवरी तक लगा रहेगा हिंदू पंचांग के अनुसार जब सूर्य धनु राशि में प्रवेश करता है तब खरमास का माह प्रारंभ हो जाता है.

अन्य पढ़े : शास्त्रों के अनुसार क्यों नहीं करना चाहिए निर्वस्त्र स्नान 

खरमास के महीने में सभी शुभ कार्य बंद कर दिए जाते हैं। खरमास के माह में ना तो शादी विवाह होता है ना ही जिन लड़के लड़कियों की शादी होती है ना ही उनकी पहली विदाई होती है यह सभी कार्य 15 जनवरी के बाद किए जाएंगे यह सभी शुभ कार्य मकर संक्रांति के बाद ही किए जाएंगे खरमास के महीने में किए जाने वाले कार्य। खरमास का महीना भगवान विष्णु को समर्पित है इसलिए इस महीने में हम पूजा पाठ हवन यज्ञ भागवत कथा आदि करनी चाहिए इस माह में पूजा पाठ करने से हमें अनेकों फल की प्राप्ति होती है और हमारे ऊपर भगवान विष्णु की कृपा बनी रहती है ।

मांगलिक कार्य कब से होंगे प्रारंभ

2024 में 16 जनवरी से लेकर 13 मार्च तक बना रहेगा शुभ मुहूर्त 14 जनवरी से लेकर 14 मार्च तक फिर मचेगी बैंड बाजों की धूम ।इन दो महीनों में सभी होटल रेस्टोरेंट में मची रहेगी शादी विवाह की धूम और फिर उसके बाद 14 मार्च से लेकर 14 अप्रैल तक लग जाएंगे मीन खरमास और बंद हो जाएंगे शादी विवाह और 15 अप्रैल से शादी विवाह का शुभ मुहूर्त है इस वर्ष मई और जून में कोई लगन नहीं है और ना ही कोई शादी विवाह का शुभ मुहूर्त है क्योंकि इन दो महीनों में गुरु और शुक्र के अस्त होने से इन दो महीनों में कोई शुभ मुहूर्त नहीं है। इन दो महीनों में क्या कर सकते हैं पूजा पाठ। इन दो महीनों में हम सत्यनारायण स्वामी की कथा रामायण भागवत कथा हवन यज्ञ आदि कर सकते हैं क्योंकि यह सभी दिन देवताओं को समर्पित माने जाते हैं इन दिनों में पूजा पाठ करने से हमारी अनेकों कष्ट बाधाएं समाप्त हो जाती है।

अन्य पढ़े : शंख  को कान में लगाकर सुनने से उठती है सागर की जैसे लहरों की आवाजें

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments