Wednesday, February 28, 2024
Homeउत्तर प्रदेशबाराबंकीबाराबंकी में वन माफियाओं के कहर से डरता है वन विभाग

बाराबंकी में वन माफियाओं के कहर से डरता है वन विभाग

रिपोर्ट -मुन्ना सिंह / सुनील कुमार

बाराबंकी : बाराबंकी जिले में इन दिनों वन माफियाओं का बोलबाला है।बिना परमिशन काटे जाते हैं आम के हरे भरे भारी भरकम पेड़। सूचना देने के बाद वन विभाग द्वारा कोई उचित कार्यवाई नहीं की जाती है।
आप को बता दे की बाराबंकी जिले में जहां वन विभाग अधिकारी पौधारोपण अभियान अभियान चला रहे हैं और फ़ोटो खिंचाकर वाहवाही लूटने में व्यस्त हैं तो वहीं दूसरी ओर वन माफियाओं द्वारा बिना परमिशन हरे भरे पेड़ो को काटने पर लगे हुए हैं। वहीं सबसे सोचनीय विषय है की स्थानीय लोगों के द्वारा वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी जाती है फिर भी वन माफियाओं पर कोई कार्यवाही नहीं होती हैं जिससे वन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं और लगातार वन माफिया अपनी मनमानी पर उतारू हैं और प्रतिबंधित पेड़ो को नष्ट करने पर लगे हुए हैं। वन माफियाओं के आगे वन विभाग बौना साबित हो रहा है और ऐसा प्रतीत होता है की वन माफियाओं के कहर से वन विभाग के अधिकारी और कर्मचारी डरते हैं। और इसी डर के कारण कार्यवाही करने से कतराते रहते है।

बता दे की ताज़ा मामला थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम दरामनगर में वन माफियाओं द्वार हरे भरे प्रतिबंधित आम के पेड़ को गुरुवार की सुबह जड़ से काटकर नष्ट कर दिया गया।जिसकी सूचना स्थानीय लोगों के द्वारा वन विभाग के क्षेत्रीय कर्मचारी अनिल गुप्ता को दी गई। लेकिन वन माफियाओं के ऊपर 5 बजे तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। जिससे साफ़ जाहिर होता है की कहीं न कहीं वन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की मदद से वन माफियाओं का धंधा जोरों शोरों से फल फूल रहा है। और वन माफियाओं के हौसले इतने बुलंद हैं की जिले में कहीं भी कभी भी बिना परमिशन प्रतिबंधित पेड़ो को काटकर गायब कर देते हैं। फिलहाल इस संबंध में डीएफओ रुस्तम परवेज से दूरभाष के माध्यम से वार्ता करने पर उन्होंने बताया की एक अभियुक्त को गिरफ्तार कर उचित कार्यवाही की जा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments