Monday, March 4, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरायबरेलीतो क्या वाकई में बीजेपी एजेंट के रूप में काम कर रहे...

तो क्या वाकई में बीजेपी एजेंट के रूप में काम कर रहे हैं स्वामी प्रसाद मौर्य

  • स्वामी प्रसाद मौर्य ने हिंदुओं के खिलाफ उगला जहर कहा हिंदू धर्म नहीं धोखा

श्री डेस्क: समाजवादी पार्टी के मुखिया  अखिलेश यादव के द्वारा आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए चुनाव की रणनीतियां को बनाने का काम किया जा रहा है तो वहीं सपा के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य अपने बयानों से लगातार सपा मुखिया अखिलेश यादव की मुसीबत को बढ़ाने का काम कर रहे हैं .

एक बार फिर से स्वामी प्रसाद मौर्य के द्वारा ऐसा तैयार दिया गया जिसके बाद इस बात की चर्चाएं तेज हो गई की क्या वाकई में बीजेपी के एजेंट बनकर स्वामी  समाजवादी पार्टी का बंटाधार करने की नीति पर कम कर रहे हैं .

अखिलेश यादव ने सपा के नेता और प्रवक्ताओं को इस बात के निर्देश दिए थे कि किसी भी नेता के द्वारा हिंदू मुस्लिम के मुद्दे को लेकर कोई भी बयान बाजी ना की जाए लेकिन सपा मुखिया अखिलेश यादव के आदेश खुद किनारे करते हुए राष्ट्रीय महासचिव स्वामी प्रसाद मौर्य के द्वारा हिंदुओं के खिलाफ बयान बाजी की गई .

एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए स्वामी ने कहा कि हिंदू नाम का कोई धर्म नहीं है यह सिर्फ एक धोखा है जिसके तहत दलित और पिछड़े समाज को दबाने का काम किया जा रहा है सिर्फ इतना ही नहीं स्वामी ने ब्राह्मणवाद को लेकर भी अमर यदि टिप्पणी की इसके बाद उत्तर प्रदेश में हिंदू में आक्रोश देखने को मिल रहा है तो वहीं आने वाले समय में बीजेपी के द्वारा स्वामी प्रसाद मॉरीशस बयान को निशाने पर रखकर राजनीतिक रोटियां सीखने का काम किया जाएगा .

ऐसे में इस बात की चर्चा है तेज है की क्या बीजेपी एजेंट के रूप में सपा के राष्ट्रीय महासचिव स्वामी  कम कर रहे हैं क्योंकि सपा मुखिया अखिलेश यादव के निर्देश को जिस तरह से स्वामी जी के द्वारा दरकिनार करते हुए हिंदुओं के खिलाफ बयान बाजी की गई उसे आने वाले समय में समाजवादी पार्टी के वोट बैंक पर गहरा असर पड़ सकता है तो वहीं लोकसभा चुनाव में हिंदुओं का पुरजोर विरोध समाजवादी पार्टी को झेलना पड़ सकता है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments