Thursday, February 22, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरायबरेलीअयोध्या के हरिओम दास ने जीता दंगल केसरी का खिताब

अयोध्या के हरिओम दास ने जीता दंगल केसरी का खिताब

  • नामी गिरानी पहलवानों ने दिखाए दांव पेंच
  • श्री कुडवावीर बाबा के मेले में हुआ दंगल प्रतियोगिता का आयोजन

शिवगढ़,रायबरेली। क्षेत्र के शिवगढ़ नगर पंचायत अन्तर्गत पहाड़पुर में आयोजित श्री कुडवावीर बाबा के ऐतिहासिक धनुषयज्ञ मेले में तीसरे दिन दंगल प्रतियोगिता का भव्य आयोजन किया गया। जिसमें यूपी के कोने-कोने से आए पहलवानों ने अपने-अपने दांवपेच दिखाकर दंगल प्रेमियों का मन मोह लिया। दंगल में हुई करीब तीन दर्जन कुश्तियों में पहली कुश्ती रामसेवक भावा खेड़ा, शिवम लाहीबार्डर के मध्य हुई जिसमें रामसेवक विजयी रहे, दूसरी कुश्ती तूफान सिंह बनारस, बादल अयोध्या के मध्य हुई जिसमें बादल विजयी रहे, तीसरी कुश्ती मुजफ्फरअली बाराबंकी, सिकंदर बनारस के मध्य हुई जिसमें मुजफ्फर अली विजयी रहे, चौथी कुश्ती हरिओम दास अयोध्या, वीरू रायबरेली के मध्य हुई जिसमें हरिओम दास विजई रहे, पांचवी कुश्ती संजय उन्नाव, विक्रम फतेपुर के मध्य हुई जिसमें संजय विजयी रहे, छठी कुश्ती रोहित लखनऊ, नारायण अंबेडकर नगर के मध्य हुई जिसमें रोहित विजय रहे, सातवीं कुश्ती करन सिंह लालगंज, रेहान अमवा मुर्तजापुर के मध्य हुई जिसमें करन विजयी रहे, आठवीं कुश्ती जितेंद्र बनारस सत्यम अंबेडकर नगर के मध्य हुई जिसमें जितेंद्र विजयी रहे, नवीं कुश्ती वीरेंद्र फतेहपुर भूपेंद्र दिल्ली के मध्य हुई जिसमें भूपेंद्र विजयी रहे, दसवीं कुश्ती सज्जन लालपुर, शैलेंद्र रायलपुर के मध्य हुई जिसमें सज्जन विजयी रहे,11वीं कुश्ती वीरेंद्र झबरा, विनय कानपुर के मध्य हुई जिसमें विनय विजयी रहे,12वीं कुश्ती कैप्टन दिल्ली, करन लालगंज के मध्य हुई जिसमें कैप्टन विजय रहे।

तेरहवीं कुश्ती अमित फतेहपुर,रोहित लखनऊ के मध्य हुई जिसमें रोहित विजयी रहे। जिन्हें मिलाकर करीब 3 दर्जन कुस्तियां हुई समयाभाव के कारण कई कुश्ती नहीं हो पाई जिससे कई पहलवान को मायूस होकर वापस लौटना पड़ा। नामी पहलवान वीरू रायबरेली,भूपेंद्र दिल्ली,रोहित लखनऊ को अपने दांवपेच से चित कर देने वाले अयोध्या के हरिओम दास को दंगल केसरी के खिताब से नवाजा गया। दंगल प्रतियोगिता में रेफरी की भूमिका जहां राजीव मिश्रा, सत्यनारायण ने निभाई तो वहीं निर्णय की भूमिका दयाशंकर त्रिपाठी,खेल शिक्षक रमेश कुमार सहगल ने निभाई गई। मेला कमेटी के संरक्षक पंडित गिरजा शंकर मिश्रा द्वारा पहलवानों को नगद पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया।

टोटल एनर्जी प्राइवेट इंडिया लिमिटेड ने पहलवानों को किया  सम्मानित

हर साल की तरह टोटल एनर्जी प्राइवेट इंडिया लिमिटेड लखनऊ के मैनेजर बीके अवस्थी ने कम्पनी की ओर से पहलवानों को जैकेट देकर सम्मानित किया गया। उन्होंने पहलवानों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा कि पहलवानी त्याग, समर्पण एवं स्वस्थ्य शरीर की परिचायक है।  अवस्थी ने कहाकि पहलवानी सिर्फ ताकत का खेल नहीं है, बल्कि इसमें फुर्ती और शारीरिक संतुलन,दिमाग की जरूरी है,जब किसी व्यक्ति का शरीर, दिमाग और फुर्ती में बैलेंस आता है, तब जाकर वो पहलवान बनता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments