Monday, March 4, 2024
Homeउत्तर प्रदेशएक अप्रैल से चलेगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान 

एक अप्रैल से चलेगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान 

रिपोर्ट उपेंद्र शर्मा 

  • 12 विभागों के समन्वय से संचालित होगा अभियान
  • अभियान को लेकर मुख्य विकास अधिकारी ने विभागीय अधिकारियों के साथ की बैठक

बुलंदशहर, 17 मार्च 2023। जनपद में एक अप्रैल से संचारी रोगों से बचाव के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस दौरान 17 से 30 अप्रैल तक दस्तक अभियान चलेगा। शुक्रवार की शाम मुख्य विकास अधिकारी कुलदीप कुमार मीना की अध्यक्षता में सभी विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक हुई। सीडीओ ने विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा – सभी विभागीय अधिकारी आपसी समन्वय कर संचारी रोग नियंत्रण अभियान की तैयारी पूरी कर अभियान को सफल बनाएं।

बैठक को संबोधित करते हुए सीडीओ कुलदीप मीणा ने कहा – इंसेफेलाइटिस, डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया जैसी संक्रामक बीमारियों के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा। जिसमें दस्तक अभियान के माध्यम से संक्रामक और जल जनित बीमारियों पर वार करना है। स्वास्थ्य विभाग के नेतृत्व में चलाए जाने वाले दोनों अभियानों को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। 12 विभागों के समन्वय से अभियान चलाया जाएगा। अभियान को सफल बनाने के लिए योजना बना ली गई है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में एक साथ चलाए जाने वाले इस अभियान के तहत विभिन्न तरह की गतिविधियां संचालित की जाएंगी।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. विनय कुमार सिंह ने कहा – संचारी रोग नियंत्रण अभियान के तहत ग्रामीण तथा नगरीय क्षेत्रों में साफ सफाई एवं जलभराव निस्तारण की व्यवस्था पर ध्यान दिया जाएगा। विद्यालयों में रोगों से बचाव तथा रोकथाम के लिए जागरूकता से संबंधित गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। अभियान के तहत साफ सफाई की व्यवस्था को लेकर लोगों को जागरूक किया जाएगा।

जिला मलेरिया अधिकारी बीके श्रीवास्तव ने बताया- दस्तक अभियान के तहत मेडिकल टीम घर-घर जाकर संक्रामक रोगों से ग्रसित मरीजों की पहचान करेंगी। इस टीम में आशा कार्यकर्ता के साथ-साथ स्वास्थ्यकर्मी भी शामिल रहेंगे। टीम की मदद से रोगियों को चिन्हित कर उन्हें दवा दी जाएगी और जरूरी होने पर अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। दस्तक अभियान के दौरान कुपोषित बच्चों की जानकारी भी ली जाएगी। इसके अलावा टीबी के लक्षण वाले मरीजों को खोज कर उनकी जांच कराई जाएगी। हाई रिस्क क्षेत्रों व दस्तक अभियान के दौरान घर-घर टीमों के सर्वेक्षण के आधार पर चिन्हित क्षेत्रों में फॉगिंग की जाएगी। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, उच्च शिक्षा ग्राम्य विकास, पंचायतीराज, कृषि एवं सिंचाई और पशुपालन विभाग सहित अन्य विभाग साथ मिलकर अभियान को सफल बनाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments