राजनीतिक महत्वाकांक्षा की बदौलत अपना दिमाकी संतुलन खो दिया है, इसलिए कांग्रेस हाईकमान पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं* *वी.के. शुक्ला*

Raeabreli Uttar Pradesh

*राजनीतिक महत्वाकांक्षा की बदौलत अपना दिमाकी संतुलन खो दिया है, इसलिए कांग्रेस हाईकमान पर अनर्गल आरोप लगा रहे हैं*
*वी.के. शुक्ला*
रायबरेली कांग्रेस जिला अध्यक्ष वी.के. शुक्ला ने एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के बयान की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि एमएलसी हताश, निराश होकर कांग्रेस नेतृत्व पर अमर्यादित आचरण का व्यवहार कर रहे हैं।उनके द्वारा यह कहना है कि *भाड़े के बदमाशों से उनकी हत्या का षडयंत्र* रचा जा रहा है, यह उन की सोची समझी रणनीति का एक हिस्सा है । सांसद प्रतिनिधि, जिला कांग्रेस कमेटी के लोगों के साथ जिस तरह गाली गलौज अमर्यादित व्यवहार पिछले कुछ महीनों से इनके द्वारा किया जा रहा है पूरा जनपद इनकी इस करतूत को समझता है। एमएलसी के द्वारा सांसद प्रतिनिधि एवं जिला कांग्रेस के अध्यक्ष सहित पदाधिकारियों पर कभी भी जानलेवा हमला करा सकते हैं। इस सोच को कांग्रेस पर दोषारोपण कर उन्होंने स्वयं उजागर कर दिया है।
वी.के. शुक्ला ने कहा कि जिला पंचायत के अध्यक्ष के अविश्वास प्रस्ताव प्रस्तुत होने को कांग्रेस का कोई लेना देना नहीं है जिस तरह जिला पंचायत के जरिए विकास कार्यों में लूट की जा रही है, चुने प्रतिनिधियों की उपेक्षा की जा रही है, पूरा जिला वाकिफ है ,और यही आक्रोश का कारण है जो अविश्वास प्रस्ताव जिला पंचायत सदस्यो के द्वारा दिया गया है। यह तो तानाशाही रवैया का चरमोत्कर्ष है कि यह चुने जिला पंचायत सदस्यों को भेडिया कह रहे हैं अगर वे भेडिया है तो ये उनके सरदार हैं ।
वी. के. शुक्ल ने कहाँ कि विकास का धन लूटने वाले समाज के हितेषी कैसे हो सकते हैं । जब से सुरक्षा हटी है तब से अनेक प्रकार के खड़े यंत्र करके लोगों पर झूठा दोष रोपण करके सुरक्षा पाने क्रुप्रयास है । जब यह कांग्रेस में थे तो कुछ विधायकों से जान का खतरा बता कर कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से ही गिड गिडा कर विशेष सुरक्षा प्राप्त कर उसका दुरुपयोग किया और शान शौकत बनाकर उसके माध्यम से धन अर्जित करना शुरू कर दिया ।कांग्रेश ने उन्हें फर्श से अर्श तक पहुंचाने का काम किया जो गांव की पंचायत नहीं जीत सकता था उसके परिवार को तीन-तीन पद कांग्रेश की बदौलत ही मिले। जरा भी साहस और नैतिकता बची है तो पहले इन पदों से इस्तीफा दे फिर अपनी हैसियत का आकलन कर सकते हैं ।एक ही परिवार को राजनीतिक सत्ता एक साथ इतना नहीं देना चाहिए अगर यह नहीं होता तो इनका दिमाग सातवें आसमान पर नहीं चढ़ता ।एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह के द्वारा *राघव एस* जैसे आईडी से कांग्रेस के लोगों को भी धमकी दिला रहे हैं जिसकी सूचना पुलिस विभाग को पहले ही हमारे पदाधिकारियों ने दिया है।
कांग्रेस उनके बयान की कड़ी निंदा करती है तथा जिला प्रशासन से मांग करती है कांग्रेस के लोगों के प्रति जो कुटिल चाल चल रहे हैं पर नजर रखने की जरूरत है और कांग्रेस के जिला अध्यक्ष, सांसद प्रतिनिधि एवं अन्य पदाधिकारियों को एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह से जान माल का खतरा है प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराने का कष्ट करें क्योंकि बहुत ही सोची समझी राजनीति कर रहे हैं।
जिला पंचायत का विकास जगजाहिर है घटिया गुणवत्ता और अपनों से बंदरबांट करना रायबरेली की 30 लाख जनता को अच्छी तरह मालूम है। सांसद ने सार्वजनिक उपक्रमों के जरिए शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हेतु सोलर ड्वेल पंप लगवाने का काम जिला पंचायत को कार्यदायी संस्था बनाकर दे दिया पूरा धन हड़प लिया गया । आज पूरा जिला पंचायत की लूट से शुद्ध पानी के लिए बूंद बूंद तरस रहा है जिला कांग्रेस कमेटी इसकी भी जांच की मांग करता है ताकि जिले के 30 लाख लोगों की इनकी असलियत का पता चल सके । शुक्ला ने कहा जो श्रीमती सोनिया गांधी, श्रीमती प्रियंका गांधी, केएल शर्मा जी का न हुआ तो जिले का चिराग कैसे हो सकता है । जिन्हें दीदी दीदी कहते जबान नहीं थकती थी आज उन्हीं पर घटिया राजनीति कर रहे हैं चिराग कैसे हो सकता है जिन्हें दीदी दीदी कहते जवान थकती नहीं थी आज उन्हीं पर घटिया राजनीति कर रहे हैं चिराग का वजूद शुरू होने के पहले अस्त का उद्भव हो गया है।

श्री समाचार ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *