कमीशन की भेंट चड़ी विद्युत उपकेन्द्र जमुनापुर*

Raeabreli Uttar Pradesh

रायबरेली। ऊंचाहार ब्लाक के अन्तर्गत सनविरवन मे करोडों की लागत से बने विद्युत उपकेन्द्र को बने एक वर्ष ही हुए कि यहां के पार्ट्स खराब होना शुरू हो गया है। इससे ये साफ जाहिर हो गया है कि उपकेन्द्र कमीषन की भेंटचड गई है, इसकी अगर प्रषासनिक जांच हो तो विभाग का एक बडा घोटाला खुलना तय है, क्योकि यही दशा कई नए विद्युत उपकेन्द्रों का है।
वीवीआईपी जिला रायबरेली से 40किलोमीटर दूर ऊंचाहार है।ऊंचाहार ब्लाक से 12किलोमीटर के तकरीबन गांव सनविरवन है।जहां पर 15 हजार की आवादी को देखते हुए यहां पर फरवरी सन् 2018 मे ही 33/11केवी का विद्युत उपकेन्द्र जमुनापुर नामक को बनाकर शुभारंभ किया गया।जिसके बाद यहां के उपकेन्द्र मे लगे कई ट्ाली तक खराब है।उपकेन्द्र को बनाने मे भूमि अधिग्रहण से लेकर सारी खर्च देखा जाए तो करोडों की लागत आता है। लेकिन यहां पर बने उपकेन्द्र मे आए दिन फाल्ट रहता है। जिसके कारण आमजनता यानी उपभोक्ताओं को परेषानियों का सामना करना पडता है।जिसमे रामुसुख कहते है कि विद्युत उपकेन्द्र मे घटिया सामग्री का प्रयोग के कारण एक एक पार्ट्स आए दिन खराब ही रहता है इस उपकेन्द्र के बंद होने केे कारण रातो मे अनहोनी घटना तक होने का भय रहता है। किसान जगदीष कहते है कि किसानों के बारे मे कोई नही सोंचता है जब घटिया सामग्री का प्रयोग करके उपकेन्द्र बनेंगे तो विद्युत कटौती होगी ही और किसानों के ट्यूबेल विद्युत न होने पर ठप्प रहेंगे जिससे फसलें न होंगी किसान भुखमगरी के कगार पर पहुंच जाएंगे। उपभोक्ता सोनल ने बताया कि मोबाइल तक चार्ज नही हो पाता है और तो और आटा चक्की बंद होने पर डीजल से महंगे दाम देकर गेहूं की पिसाई करवाया जाता है बीजेपी के ब्लाक अध्यक्ष राजकुमार तिवारी ने बताया कि विद्युत विभाग के कुछ कर्मचारी सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे है नही तो चुनावी महौल मे विद्युत कटौती कम ही किया जाता है।। उधर एसडीएम केदारनाथ ने बताया कि हम हाल ही मे आए है जिसमे यदि लीखित षिकायत मिली तो जांच करवाया जाएगा जिसके बाद विधिक कार्यवाही किया जाएगा।

श्री समाचार ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *