कृषक बेखौफ होकर जला रहे पलाली, जिम्मेदार मौन

Raebareli

कंचन

डलमऊ,रायबरेली। डलमऊ तहसील क्षेत्र के गाँव मिल्खा साहब मेंं शनिवार को पराली जलाई जाती है और प्रशासन की कार्यवाही कोई नहीं जान पाता, सोमवार को जौहवा नटकी मे पराली जल जाती है फिर मंगलवार को पूरे गुरुबख्श, मंगलवार को ही जोहवा नटकी मेंं एक साथ तीन जगह खुलेआम प्रशासन को चुनौती देते हुए पराली जलाई जाती है और प्रशासन मूकदर्शक बनकर जगह तलाश करने के नाम पर सिर्फ खानापूर्ती करता नजर आया। कुछ ये कहा जाए तो अतिशयोक्ति नहीं होगी अपनी नाकामी छुपाने के लिए प्रशासन पराली जलाने वालों पर मेहरबान हो जाए तो उन पर कार्यवाही कौन करेगा। क्षेत्र में आए दिन पराली जलाने की घटनाएं प्रकाश में आ रही हैं लेकिन उन किसानों पर कोई कार्यवाही नहीं हो रही है, जो खुलेआम सर्वोच्च न्यायालय के आदेशों की अवमानना कर रहे हैं। शासन के  सख्त निर्देश के बावजूद भी किसान पराली जला रहे हैं और जिम्मेदार अधिकारी उन पर कोई कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। डलमऊ तहसील क्षेत्र के ग्राम पुरे सिकरवारन मजरे रायपुर टप्पा हवेली और मलियापुर के पास शुक्रवार को किसानों ने अपने-अपने खेतों में पराली जला कर खूब प्रदूषण फैलाया। किसानों द्वारा पराली जलाने के पश्चात चारों तरफ अंधकार फैल गया लेकिन तहसील में तैनात अधिकारियों को वह धुआं नहीं दिखा। गैरतलब है कि क्षेत्र में आए दिन पराली जलाने की घटनाएं प्रशासन के संज्ञान में आ रही हैं लेकिन डलमऊ में तैनात अधिकारियों द्वारा किसानों पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। जबकि उच्चाधिकारियों का निर्देश है कि अगर किसान खेत में पराली जलाकर प्रदूषण फैलाता है तो उसके विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाए लेकिन यहां पर तैनात अधिकारी नाथू उच्चाधिकारियों के आदेश का पालन करते हैं और ना ही शासन का डर है।

Total Page Visits: 3 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *