आखिर जिम्मेदार क्यों लगा रहे स्वच्छ भारत मिशन को पलीता

Raebareli

विपिन पाण्डेय

रायबरेली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में चलाए गए स्वच्छ भारत मिशन योजना को महाराजगंज विकास खण्ड में बैठे उच्चाधिकारी ठेंगा दिखा रहे हैं, जिसके चलते क्षेत्र के गांवो में गंदगी का अंबार व्याप्त है और स्वच्छ भारत मिशन की धज्जियां उड़ाई जा रहे हैं।
आपको बता दें कि, महराजगंज विकासखंड क्षेत्र के कोटवा मदनिया गांव में खंड विकास अधिकारी एडीओ पंचायत द्वारा विगत 2 वर्षों से कोटवा मदनिया में सफाई कर्मी की तैनाती नहीं की है। जिसके चलते संपूर्ण गांव में गंदगी का अंबार व्याप्त है और ग्रामीणों द्वारा कई बार इसकी शिकायत विकासखंड में बैठे अधिकारियों से की गई बावजूद विकासखंड में बैठे अधिकारियों ने शिकायती पत्र तो ले लिया लेकिन उसे लेकर ठंडे बस्ते में डाल दिया, जिसके चलते संपूर्ण गांव में गंदगी का अंबार व्याप्त है।
वहीं कोटवा मदनिया गांव के ग्रामीण दिनेश कुमार अनुपम जायसवाल मुरली ने हकीकत देखने पहुंचे हमारे संवाददाता को अपना दुखड़ा बताया और कहा कि, बीते 2 वर्षों से सफाई कर्मी की तैनाती ना होने के चलते गांव में गंदगी का अंबार व्याप्त है।
ग्रामीणों ने यह भी बताया कि, शुरुआती ठंड में ही मच्छरों का प्रकोप बढ़ रहा है तथा गंदगी व मच्छरों के चलते संक्रामक बीमारी व डेंगू मलेरिया बुखार जैसी बीमारियों की संभावनाए बढ़ गई है। यदि जल्द ही विकासखंड के अधिकारियों द्वारा संपूर्ण गांव की नालियों की साफ सफाई की व्यवस्था हेतु सफाई कर्मी की तैनाती नही की गई तो वे सभी जिला अधिकारी कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी विकासखंड मुख्यालय में बैठे अधिकारियों की होगी।
मामले में खंड विकास अधिकारी प्रवीण कुमार पटेल का कहना है कि, मामला संज्ञान में आया है जल्द ही जिला पंचायत राज्य अधिकारी से बात कर सफाई कर्मी की तैनाती कराई जाएगी, तब तक के लिए पंचायत मंत्री को निर्देशित किया गया है कि, ऐसे गांव में जहां सफाई कर्मी की तैनाती नहीं हुई है वहां साफ सफाई की व्यवस्था सुनिश्चित कराएं।

Total Page Visits: 2 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *