एकल विद्यालयों में नि:शुल्क दी जा रही संस्कार युक्त शिक्षा

Raebareli

विपिन पांडेय

शिवगढ़ (रायबरेली) भारत लोक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित एकल विद्यालय अभियान के तहत शिवगढ़ क्षेत्र के बैंती,देहली,कसना, शिवली,तरौजा,सीवन सहित कुल 30 एकल विद्यालय संचालित हैं। प्रत्येक एकल विद्यालय में नियुक्त एक आचार्या बहन है। आचार्या बहने अपने दरवाजे अथवा सार्वजनिक स्थलों पर 6 से 14 वर्ष के बच्चों को संस्कार युक्त शिक्षा देकर संस्कार युक्त राष्ट्र का निर्माण कर रही हैं। विदित हो कि एकल विद्यालय अभियान की शुरुआत 1988 में झारखंड के गुमला नामक ब्लॉक के रतनपुर गांव से हुई थी। जिसकी शुरुआत 60 विद्यालयों से हुई थी आज पूरे देश में एक लाख गांव और 4 संपर्कीय गांव सहित करीब पांच लाख गांवों में एकल विद्यालय अभियान चलाया जा रहा है। सोमवार को एकल विद्यालय बैंती में आचार्या सारिका रावत विद्यालय में उपस्थित 30 से अधिक बच्चों को महापुरुषों की कहानियों के माध्यम से संस्कार युक्त शिक्षा देती मिली। बच्चों के अभिभावकों ने बताया कि जब से बच्चे एकल विद्यालय में जाने लगे हैं बच्चों का मानसिक विकास तीव्र गति से हो रहा है।

Total Page Visits: 1 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *