चंदौली पुलिस ने पेश की मानवता की मिसाल,3 दिनों से भूखे श्रमिकों को कराया भोजन

Uncategorized
Share On Facebook
Share On Twitter
Share On Youtube
Contact us

पैदल चलते-चलते श्रमिकों के पैरों में पड़ गए छाले

धैर्य शुक्ला

चंदौली। चंदौली पुलिस का मानवीय चेहरा सामने आया है जिसकी हर कोई सराहना कर रहा है। चंदौली पुलिस चन्दौली हेमन्त कुटियाल को सूचना प्राप्त हुई कि लोगों का एक समूह रेल की पटरियों से होते हुए पैदल ही बिहार की तरफ जा रहा है जिस पर पुलिस अधीक्षक ने क्षेत्राधिकारी सदर कुंवर प्रभात व थाना प्रभारी अलीनगर बृजेश कुमार त्रिपाठी को तत्काल पता करनें के लिए भेजा कि ये लोग कौन है ? और कहां जा रहे है ? आदेश मिलने के बाद अलीनगर पुलिस ने उन्हें कुचमन स्टेशन के पास रोककर जानकारी ली गयी तो उन्होंने बताया कि- श्रमिकों ने बताया कि वे सब केरल में रहकर मजदूरी/नौकरी करते थे। उनका घर समस्तीपुर,बिहार में है और वे 16 व्यक्ति हैं। 21 मार्च 2020 को ट्रेन से झांसी पहुंचे जहां से माल वाहक पिकअप से वाराणसी तक पहुंचे, लाॅकडाउन होने के कारण आगे नहीं जा सके। जनपद की सीमाएं शील होने तथा साधन न मिलने के कारण 03 दिन तक वाराणसी में फंसे रहें कोई उपाय न होने पर अपने गन्तव्य के लिए रेल मार्ग को सहारा बनाकर उसके किनारे-किनारे पैदल ही चल दिये। जिन्होंने ने बताया कि उन्हे बहुत भूख और प्यास लगी है। पैदल चलते चलते जिनके पैर भी घायल हो गये हैं। पूरी जानकारी क्षेत्राधिकारी सदर द्वारा पुलिस अधीक्षक चन्दौली को दी गई। जिनके निर्देश पर अलीनगर पुलिस ने सभी को सुरक्षित स्थान पर लाया गया, सभी भूखे प्यासे थे जिन्हें तत्काल नाश्ता कराया गया तथा उनके लिए भोजन की व्यवस्था की जा रही है। पुलिस अधीक्षक चन्दौली के निर्देश पर चिकित्सकों की एक टीम उक्त स्थल पर पहुंची जो सभी का ईलाज व चिकित्सीय परीक्षण करेगी तत्पश्चात सभी को उनके घरों तक चन्दौली पुलिस उन्हें उनके गंतव्य स्थान तक हो जाएगी।

Total Page Visits: 32 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *