परिषदीय विद्यालयों में ठंड से ठिठुर रहे बच्चे, स्वेटरों का पता नहीं….

Raebareli

टी.पी.यादव

महराजगंज(रायबरेली) प्रदेश सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा सही समय पर क्रियान्वित नही किया जा रहा है। शीतलहर प्रारम्भ होने के बावजूद स्कूली बच्चों को आज तक स्वेटर नसीब नहीं हुये है।बीईओ से लेकर जनपद के अन्य जिम्मेदार कागजी घोड़ा दौड़ाने में लगे हुये है।
प्रदेश सरकार द्वारा परिषदीय विद्यालयों में शिक्षारत बच्चों को प्रतिवर्ष एक एक स्वेटर निःशुल्क प्रदान किया जाता है जिसकी खरीददारी के लिये शासन द्वारा धनराशि प्रबंध समिति के खाते में भेजी जाती थी लेकिन इस वर्ष जूता मोजा की तर्ज पर प्रदेश सरकार द्वारा स्वेटर की भी आपूर्ति की जायेगी।वही नवम्बर का महीना भी बीतने में एक ही दिन बचा है।लेकिन स्वेटर का पता नही चल सका है जबकि शीतलहर शुरु हो चुकी है और कमरा के अंदर बैठकर तालीम हासिल करने वाले बच्चे इस कड़ाके की ठंड में स्वेटर न मिलने की वजह से ठिठुरते ठिठुरते ही स्कूल जाने को मजूबर है।विकास क्षेत्र महराजगंज के 116 प्राथमिक व 33 पूर्व माध्यमिक विद्यालयों में इस सत्र में चौदह हजार नौ सौ पचास बच्चे नामांकित है।जिसमे प्राथमिक के 10668 व पूर्व माध्यमिक के 4282 बच्चे शामिल है जो नियमित स्वेटर की राह देख रहे हैं।परिषदीय विद्यालयों में शिक्षारत बच्चों को शीतलहर से छुटकारा पाने के लिये स्वेटर कब नसीब होगा इसकी सही जानकारी से महकमे के खेवनहार भी अनभिज्ञ है जबकि अन्य विकास क्षेत्रों के ब्लाक संसाधन केन्द्र पर स्वेटर पहुंच गये है।विकास क्षेत्र महराजगंज में आज तक जब स्वेटर बीआरसी ही नही पहुंच सके हैं तो उन्हें विद्यालय कब पहुंचाया जायेगा और स्वेटर का वितरण कब होगा ? जबकि जिले कई ब्लाकों के स्कूलों में स्वेटर पहुंच चुके है।इस सम्बन्ध में महराजगंज के खण्ड शिक्षा अधिकारी सुरेश कुमार से बात की तो उदासीन जबाब देते हुए बताया कि एक या दो दिन में स्वेटर आने वाले है व जल्द ही बच्चों में वितरित किये जायेंगे।

Total Page Visits: 106 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *