कोरोना वायरस से बचने के लिए अभिभावकों को किया जागरूक

Raebareli Uttar Pradesh

बच्चों को साबुन बांट कर किया सचेत

दीपचन्द मिश्रा

बछरावां,रायबरेली।अपनी नैतिक जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए उत्तर-प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष एवं प्राथमिक विद्यालय गोझवा बछरावां के प्रधानाध्यापक आशुतोष शुक्ला द्वारा अपने विद्यालय के ग्रामीण अंचल गोझवा मनाखेड़ा शेखपुर समोधा में बच्चों के घर-घर जाकर बच्चों के साथ अभिभावकों को भी कोरोना वायरस से बचाव हेतु जागरूक किया गया तथा हाथों की निरंतर साफ-सफाई हेतु साबुन का भी वितरण करते हुए स्वच्छता के प्रति उन्हें प्रेरित किया गया। आशुतोष शुक्ल ने अभिभावकों से कहा कि आज यह वायरस वैश्विक महामारी के रूप में सम्पूर्ण मानवता के अस्तित्व को चुनौती दे रहा है l आइये हम सब मिलकर इसकी चुनौती को स्वीकार करें l इसके संक्रमण से खुद को सावधानीपूर्वक बचाए व दूसरो को भी बचाव हेतु प्रेरित करें।इसको रोकने का यही सर्वोत्तम उपाय है।आइये हम सब संकल्प ले कि जब तक कोरोना का संक्रमण समाप्त नहीं हो जाता है। तब तक घरो से,भीड वाली जगहो पर जाने से बचे व दूसरो को भी बचाये। इसी क्रम में ग्रामीणों से यह अपील भी की गयी कि वह 22 मार्च को प्रधान मंत्री जी के आह्वान पर प्रातः 7 बजे से साय 9 बजे तक जनता कर्फ़्यू को पूर्णतः सफ़ल बनाकर कॉरोना से लड़ाई में शासन, स्वास्थ्य सेनानियो का सहयोग करेंगे l
एक दिन के कर्फ्यू का महत्त्व से सभी को अवगत कराते हुए कहा कि सामान्य सूचना के आधार पर कोरोना वायरस किसी भी सतह पर लगभग 9 से 12 घंटे तक ही जीवित रहता है और कर्फ्यू का समय सुबह 7 से रात 9 बजे तक। मतलब 14 घंटे और फिर रात मतलब मोटे तौर पर 24 घंटे अर्थात ये 24 घंटे लोग घरों में रहेंगे तो वायरस संक्रमण सतहों से लगभग शून्य हो जाएगा और सोशल ट्रांसमिशन (सामाजिक प्रसारण) का खतरा बहुत कम हो जाएगा, बहुत बुद्धिमानी पूर्ण निर्णय हम सबको मिलकर इसको शत प्रतिशत सफल बनाना चाहिए। यह विश्व के रक्षण में एक मील का पत्थर साबित होगा।यह सब आपकी जागरूकता एवम सहयोग से ही पूर्णतया सम्भव है। इस घर-घर जाकर किये गए जनजागरूकता अभियान में विद्यालय प्रबंध समिति के सदस्यों का भी पूर्ण सहयोग प्राप्त हुआ।

Total Page Visits: 70 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *