आखिर शिक्षकों ने क्यों किया थाने का घेराव

Uncategorized

क्यों नाराज हुए गुरुजी

दिवाकर त्रिपाठी

खीरों,(रायबरेली)।थाना क्षेत्र के गाँव छत्ता का पुरवा के प्राथमिक विद्यालय में बीते शुक्रवार की रात हुयी चोरी की तहरीर देने पहुंचे विद्यालय के शिक्षकों के साथ प्रभारी निरीक्षक मणिशंकर तिवारी ने अभद्र व्यवहार किया था । जिससे नाराज शिक्षकों ने सोमवार की दोपहर थाने का घेराव किया। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक ने शिक्षकों से माफी मांगते हुए भविष्य में गलती न दोहराने का वादा किया। थाने पहुंचे शिक्षकों ने बताया कि शुक्रवार की रात अज्ञात चोरों द्वारा छत्ता का पुरवा के प्राथमिक विद्यालय में चोरी कर एमडीएम का सामान व राशन पार कर दिया गया था । जिसकी तहरीर लेकर विद्यालय के प्रधान शिक्षक राजेश कुमार सिंह अपने शिक्षक साथियों के साथ शनिवार की सुबह जब थाने पहुंचे तो प्रभारी निरीक्षक मणिशंकर तिवारी नें आपा खो दिया ।

उन्होने शिक्षकों को ही चोरों की संज्ञा देते हुये उन्ही के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की धमकी दी ,शिक्षकों को अपमानित कर थाने से भगा दिया गया। इस घटना से समूचे शिक्षक समुदाय में आक्रोश व्याप्त हो गया । सोमवार की सुबह बीआरसी खीरों में प्राथमिक व जूनियर तथा राष्ट्रीय शैक्षिक महा संघ व यूपी एक्स सर्विस मैन टीचर्स एसोसिएशन आदि शिक्षक संगठनों के शिक्षक नेताओं सहित लगभग आधा सैकड़ा शिक्षकों ने एकत्र होकर मंत्रणा की । उसके बाद शिक्षकों नें सोमवार की दोपहर थाने पहुँचकर घेराव किया ।

इस दौरान आक्रोशित शिक्षकों से प्रभारी निरीक्षक मणिशंकर तिवारी नें घटना के प्रति माफी मांगी मणिशंकर तिवारी ने शिक्षकों के सामने हांथ जोड़कर माफी मांगते हुये कहा कि शिक्षक गुरू होता है ,शनिवार को मैं मानसिक तनाव में था । इसलिए शिक्षकों के साथ मेरे द्वारा दुर्व्यवहार किया गया । जिसके लिए मैं सभी शिक्षक समुदाय से माफी मांगता हूँ । भविष्य में मेरे द्वारा ऐसी घटना की पुनरावृत्ति नहीं होगी । मैं शिक्षकों का हमेशा सम्मान करूंगा । इस बाबत शिक्षकों का नेतृत्व कर रहे शिक्षक नेता भगवती सिंह नें बताया कि प्रभारी निरीक्षक द्वारा शिक्षकों से माफी मांगी गई है । इसलिए आंदोलन स्थगित किया जा रहा है ।

Total Page Visits: 487 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *