चौथा स्तंभ हो रहा खिलवाड़ सरकार लाख दावे करते हुए भी परेशान

Raeabreli Uttar Pradesh

इलाहाबाद हाई कोर्ट की टिप्पणी के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐलान किया था पत्रकारों से बदसलूकी करने पर 50000 का जुर्माना 3 साल की जेल व 24 घंटे के अंदर अभियुक्त को जेल भेजा जाएगा। इस सब से इतर रायबरेली में उल्टी गंगा बह रही है आज एक महिला पत्रकार को बेरहमी से कमरे में बंद करके लगभग आधे घंटे मारपीट की गई उसके बाद जब उसकी हालत बिगड़ गई तो जिलाअस्पताल में भर्ती कराया गया।

इसी बीच तहरीर देने का भी सिलसिला शुरू हुआ दोनों पक्षों ने तहरीर दी यहां पर देखने वाली बात यह है क्या रायबरेली पुलिस इलाहाबाद हाईकोर्ट की टिप्पणी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐलान का पालन करती है या फिर आम आदमी की ही तरह मामूली धाराओं में मुकदमा दर्ज करा कर कार्यवाही के नाम पर पल्ला झाड़ लिया जाएगा। वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए रायबरेली पुलिस को तत्काल मामले को संज्ञान में लेना चाहिए और यही नहीं कठोर से कठोर सजा जो कानूनन द्वारा संभव है

उसका पालन होना चाहिए जिससे आम जनमानस के लिए पत्रकारिता कर रहे पत्रकारों को सुरक्षा का भाव पैदा हो। अब देखने वाली बात यह होगी क्या पत्रकारिता के नाम पर बड़ी-बड़ी बातें करने वाले संगठन पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी से मिलकर कठोर कार्यवाही की मांग करते हैं या फिर वह बातें बैनर तले ही सिमट जाएंगे। कार्यवाही लचर तरीके से हुई इससे पत्रकारों का उत्पीड़न और पड़ेगा उसी के साथ बुलंद हो जाएंगे अपराधियों के हौसले वह खुलेआम चौथी सत्ता को चैलेंज करते हुए नजर आएंगे।
श्री समाचार रिपोर्टर
हेमंत कुमार अग्रहरी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *