पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के किनारे खेतों से हो रहा अवैध खनन अधिकारी मौन

Raebareli Uttar Pradesh

प्रमोद राही

लखनऊ।मोहनलालगंज तहसील क्षेत्र से निकलने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे आस-पास के किसानों के लिए किसी कहर से कम नहीं है। निर्माणाधीन एक्सप्रेस-वे में पटान के मिट्टी की व्यवस्था के लिए ठेकेदारों ने अवैध खनन माफियाओं से मिलकर आस-पास के किसानों के खेत में अवैध खनन कर उनके खेतों को गड्ढों में तब्दील कर दे रहें हैं। जब कोई किसान इसका विरोध करता है, तो थोड़े बहुत पैसे देकर उसका मुंह बंद करा दिया जाता है और यदि किसान न माने तो जबरन उसके खेतों से अवैध मिट्टी का खनन करा लिया जाता है। यह सब इस लिये होता है, क्योंकि पुलिस और प्रशासन ने पूरी तरह अवैध खनन माफियाओं के आगे घुटने टेक रखे हैं। ऐसे में पीड़ित किसानों की सुनने वाला कोई नहीं है। यदि किसी व्यक्ति या संस्था द्वारा अवैध खनन के बावत बात की जाती है, तो पुलिस और प्रशासन आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई को टाल दिया जाता है। जिससे किसान इस सरकार में खुद को ठगा हुआ सा महसूस कर रही है।

लखनऊ से गुजरने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की तहसील क्षेत्र मोहनलालगंज में अवैध खनन की मिट्टी खोदते डम्परों की भरमार रातों दिन देखी जा सकती है। हर एक डम्पर की निर्धारित सुविधा शुल्क का नजराना पुलिस के सामने पेश किया जाता है। जिससे पुलिस और प्रशासन की जेबे गरम हो रहीं हैं। ऐसे में पीडि़त किसानों की सुनने वाला कोई नहीं है। मोहनलालगंज तहसील क्षेत्र में दंबग खनन माफियाओं ने सरकारी जमीनों के साथ-साथ गरीब किसानों को भी सीधा निशाना बनाया जा रहा है। जमीन पर जबरन खनन के लिए रात के अंधेरे में मिट्टी की खुदाई के लिए पहले से ही जेसीबी और डम्परों की तैयारी रहती है। बस इंतजार अंधेरा होने का रहता है। अवैध खनन का ठेका लेने वालों ने किसानों के खेतों को तालाब मे तब्दील कर दिया है। पुलिस और प्रशासन से दर्जनों शिकायतों के बावजूद कार्रवाई के नाम पर पुलिस केवल नाटकीय अंदाज में डंडा फटकार कर लौट आती है। जिससे खनन माफियाओं के हौसले दिन ब दिन बुलंद हो रहें हैं।

Total Page Visits: 92 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *