वर्षों से उपेक्षा का शिकार पहरे मऊ, चुनाव के बाद दिखाई नहीं देते जनप्रतिनिधि

Uncategorized

टी.पी.यादव

महराजगंज,रायबरेली। महराजगंज कोतवली क्षेत्र के पहरेमऊ परसिमन मेंं अलग होने क़े बाद जब से बछरावाँ विधानसभा मे जोडा गया है तब से पूर्णतया विकास से अछूता है । क्षेत्रीय लोगोंं का कहना है कि इस क्षेत्र मेंं जनप्रतिनिधियों एवं प्रत्याशी महोदय ऐसे की वोट लेने क़े बाद जनता से भेंट करने की उन्हें अब तक फुर्सत नही ।
बताते चले की 2011-12 मे पहरेमऊ क्षेत्र को सदर विधानसभा से काट बछरावा विधानसभा मे जोड़ा गया तब से इस क्षेत्र क़े विकास को कोई पूछने वाला नही मिला । कई सरकारे आई एवं कई सरकारे गई लेकिन इस ओर किसी ने देखना मुनासिब नही समझा। लगभग 20 हजार वोटरो की क्षमता रखने वाला यह क्षेत्र मायूसी भरे दिनो से गुजर रहा है । लोगो का कहना है की जनप्रतिनिधियों क़े मुंह मोड़ लेने से अधिकारियो कर्मचारियो ने भी योजनाओं क़े क्रियान्वयन से लेना देना छोड़ दिया है । इण्टर कालेज, डिग्री कालेज, अस्पताल,खेल मैदान, बारात घर आदि जरुरतो से वंचित ग्रामीणों को तोहफे मे बदहाल सड़के मिली है। उपेक्षा का शिकार क्षेत्र के लोगों ने मूलभूत सुविधाओं के लिए कई बार इसकी आवाज उठाई लेकिन उनकी आवाज सुनने वाला शायद कोई नहीं है या क्षेत्र जब से कटा नया इधर का रहा ना उधर का रहा। इस क्षेत्र की लगातार हो रही उपेक्षा से क्षेत्रीय लोग अपने आप को काफी ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं और उनकी मांग है कि जिस तरह दूसरे क्षेत्रों का विकास हो रहा है उस तरह हमारे क्षेत्र का भी विकास हो । ग्रामीण ऋषि सिंह, अमित सिंह, मनीष सिंह, आनन्द सिंह, राम आसरे, उदल, रामचरण सोनकर, डीके सिंह, दल बहादुर यादव, दुर्गेश पासी आदि लोगों का कहना है कि यही हाल रहा तो क्षेत्र क़े लोग आन्दोलन करने को बाध्य होगे ।

Total Page Visits: 37 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *