दूल्हन की तरह सजाए गए शिवालय, महाशिवरात्रि में उमड़ेगा आस्था का सैलाब

Raebareli Uttar Pradesh धार्मिक

धैर्य शुक्ला

रायबरेली।महाशिवरात्रि पर्व में अब कुछ ही घंटे शेष बचे हैं। पर्व को लेकर जिलेभर में स्थित शिवालय सज गए हैं। मंदिरों के पुजारियों व मंदिर कमेटी ने महाशिवरात्रि की तैयारी शुरू कर दी है। मऊ बाजार स्थिति ऊचेश्वर महादेव मंदिर, मोन गांव स्थित इन्हौना मार्ग पर बना शिव मंदिर, महराजगंज कस्बा स्थित धनेश्वर मंदिर, रंधावा रोड स्थित शिव मंदिर, शिवगढ़ राजमहल के बगल में स्थित शिव मंदिर, गूढ़ा स्थित शिव मंदिर, भवानीगढ़ शिव मंदिर, अटरा स्थित शिव मंदिर, हलोर स्थिति शिव मंदिरों को दुल्हन की तरह सजाया गया है।
बताते चलें कि, मऊ बाजार स्थित प्राचीन ऊचेश्वर महादेव मंदिर, शिवगढ़ राजमहल के बगल में स्थित शिव मंदिर, अटरा गांव स्थित शिव मंदिर तथा महराजगंज कस्बा स्थित दानेश्वर मंदिर में आसपास क्षेत्रों से भी काफी संख्या में श्रद्धालु माथा टेकने पहुंचते हैं। श्रद्धालुओं की आस्था को देखते हुए राजा राकेश प्रताप सिंह शिवगढ़, सत्येंद्र प्रताप सिंह ब्लाक प्रमुख मऊ महराजगंज, जिला पंचायत सदस्य चेयरमैन प्रतिनिधि प्रभात साहू, राकेश त्रिवेदी उर्फ आलू महराज ने बताया कि, मंदिर में कई धार्मिक कार्यक्रम किए जाते हैं दिन में शिव की आरती के साथ ही लंगर और शाम को शिव विवाह व जागरण किया जाता है। जिसके चलते पूरे दिन मंदिर परिसरों में श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है।
महराजगंज कस्बा स्थित प्राचीन धनेश्वर मंदिर धाम के करीब ही रंधावा रोड पर बने प्राचीन शिव मंदिर और जसवंत्री देवी मंदिर परिसर में कई कार्यक्रम किए जाते हैं तथा क्षेत्र के कई शिव मंदिरों में शिव की बारात भी झांकी के साथ निकाली जाती है। कई जगह मंदिरों में शिवलिंग पर मुकुट लगाए गए है। श्रद्धालु महाशिवरात्रि पर मुकुट वाला शिवलिंग के दर्शन करेंगे। मंदिरों में जगह-जगह भंडारे का भी आयोजन किया गया है। शिवगढ़ राजमहल के बने बगल में बने प्राचीन शिव मंदिर, महराजगंज के दानेश्वर मंदिर तथा मऊ बाजार स्थिति ऊचेश्वर महादेव मंदिर पर विशेष पूजा अर्चना के बाद भगवान शिव की झांकी भी निकाली जाएगी।
इसके अलावा रायबरेली जनपद के अन्य क्षेत्रों में स्थित शिव मंदिरों में महाशिवरात्रि को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। महराजगंज कोतवाली प्रभारी अरुण कुमार सिंह के निर्देशन पर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर शिवरात्रि के महापर्व पर प्रशासन भी पूरी तरह मुस्तैद देखा गया है। जगह-जगह मंदिर परिसरों में या मंदिर के सामने संगीनों से लैस पुलिसकर्मी मुस्तैद नजर आए।

इस बार महाशिवरात्रि पर 117 साल बाद बन रहा है दुर्लभ संयोग

महाशिवरात्रि के लिए महराजगंज क्षेत्र सहित समूचे जनपद के शिवालय सज चुके हैं। शुक्रवार को महाशिवरात्रि है और मंदिरों में गुरुवार की मध्य रात्रि से ही विशेष पूजन शुरू हो जाएगा। सभी जगह भगवान भोलेनाथ के अभिशेक के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं। शिवगढ़ राजमहल स्थित प्राचीन महादेव मंदिर समेत क्षेत्र के सभी भोलेनाथ के मंदिरों में रुद्राभिषेक की तैयारी पूरी हो चुकी है। इसके अलावा भी जनपद के तमाम मंदिरों में महाशिवरात्रि को लेकर तैयारियां की जा रही है।
महाशिवरात्रि का पर्व फागुन कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है। आचार्यों के मुताबिक इस बार 117 साल बाद महाशिवरात्रि पर दुर्लभ संयोग बन रहा है। इस दिन शनि स्वराशि मकर में और शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में होगा। इसके साथ ही 28 साल बाद इस दिन विष योग बन रहा है।
शुक्रवार को बुधादित्य और सर्प योग भी रहेगा। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन महादेव की पूजा अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है। इस दिन व्रत रखने का भी बहुत अधिक महत्व है। इस बार महाशिवरात्रि पर महादेव की भस्म आरती की जाएगी, साथ ही केसर युक्त दूध का भी भोग लगाकर श्रद्धालुओं में वितरित किया जाएगा।

Total Page Visits: 180 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *