तीस के बाद शादी से युवतियों में हो सकता है इस बीमारी का खतरा

National Uttar Pradesh

30 साल की उम्र पार करने के बाद शादी करने वाली युवतियों में बांझपन का खतरा ज्यादा रहता है। ऐसे में 25 तक शादी और 30 की उम्र से पहले बच्चे को जन्म देना हितकर है क्योंकि उम्र बढ़ने के साथ ओवरी के अंडे कम होने लगते हैं। यह कहना है केजीएमयू की स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ. सुजाता देव का। वह इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल के तहत बायो केमिस्ट्री विभाग की ओर से आयोजित हेल्थ कॉन्क्लेव को संबोधित कर रही थीं।
डॉ. देव ने बताया कि बदलती परिस्थितियों में बच्चियों के युवा होने का समय घटा है। खानपान सहित कई तरह के बदलाव की वजह से पहले की तुलना में वे अब जल्दी युवा हो रही हैं तो दूसरी तरफ बांझपन की समस्या भी बढ़ी है। इसका प्रमुख कारण एक तरफ तनाव है तो दूसरी तरफ देर से प्रसव के लिए खुद को तैयार करना है।

कॅरिअर के चक्कर में देर से विवाह होना अब समस्या बनती जा रही है। यही वजह है कि बांझपन की शिकार होने वाली ज्यादातर महिलाएं शहरी होती हैं। इसी तरह महिलाओं को तनाव से दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *