अवैध लाइन बनाने की जांच शुरू ! किसान व जेई के आरोप पर फंसा पेंच

Raebareli Uttar Pradesh


मुस्तकीम अहमद

नसीराबाद रायबरेली।नसीराबाद थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत सुलईपुर के गांव बस्तापुर में नलकूप के लिए अवैध लाइन बनाने के मामले में जेई की तहरीर पर पुलिस ने किसान के खिलाफ मुकदमा तो दर्ज कर लिया। उधर आरोपी पीड़ित किसान गंगासागर ने अवर अभियन्ता पर अधिक रूपये ना देने पर लाइन को उखाड़वाने की तहरीर दी है। फिलहाल पुलिस ने अपने शिरे से जांच पड़ताल शुरू कर दी है। सूत्रों के मुताबिक गांव उक्त निवासी गंगासागर तीन माह पूर्व बगैर कनेक्शन के पावर कार्पोरेशन के कर्मचारियों की मिलीभगत से 11 खंभों की लाइन बनाकर समर्सिबल पम्प चला रहे थे। जहां शिकायत पर एसडीओ सौरभ जायसवाल की जांच में मामला सही पाया गया। जिसके बाद छतोह अवर अभियन्ता वीरेंद्र कुमार की तहरीर पर उपभोक्ता पर मुकदमा पंजीकृत कराया गया। तो वहीं पीड़ित किसान ने भी अवर अभियन्ता पर ढाई लाख रूपये के रिश्वत का आरोप लगाते हुए थाने में तहरीर दी।अब कौन सही है और कौन गलत यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा।फिलहाल एसडीओ सौरभ जायसवाल का कहना है जांच टीम गठित कर दी गयी है। पोल ट्रांसफार्मर,तार कहां से आया ,लाया गया और लाइन किसने बनायी यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा। वहीं जेई वीरेन्द्र कुमार का कहना है हमें लाइन बनाने की जानकारी नही थी। किसान द्वारा रूपया लेने का झूंठा आरोप लगाया जा रहा है।अब क्या सही है क्या गलत यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा।लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह भी है कि इतने दिनों तक बगैर कनेक्शन के 11खंभों की पोल पर समर्सिबल चला रहे किसान पर छतोह उपकेन्द्र के जिम्मेदार कैसे अंजान बने रहे?

क्या उपकेन्द्र के जिम्मेदारों की मिली भगत से हो रहा था यह अवैध कार्य ?
फिलहाल यह प्रश्न अपने आप में कई तरह के सवाल खड़ा कर रहा है।इस बावत थानेदार रवीन्द्र सोनकर ने बताया कि जेई वीरेन्द्र कुमार की तहरीर पर किसान गंगासागर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।वहीं किसान गंगासागर की तरफ से मिली तहरीर पर जांच करवायी जा रही है।जांच में जो भी तथ्य सामने निकल कर आयेगा उसी आधार पर कार्यवाही की जायेगी।

Total Page Visits: 104 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *