बीएससी की छात्रा के शव को हाईवे पर रखकर किया प्रदर्शन

Raebareli Uttar Pradesh प्रदर्शन बड़ी खबर

बेटी हम शर्मिंदा हैं, तुम्हारे कातिल जिंदा है, बिटिया के हत्यारों को फांसी दो फांसी दो के नारों से गूंज उठा बछरावां कस्बा

दीपचंद मिश्रा

रायबरेली। बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए बछरावां कस्बे की गलियों से लेकर लखनऊ- प्रयागराज नेशनल हाईवे तक जनसैलाब उमड़ पड़ा। बीएससी की छात्रा मृतका वंशिका गुप्ता के परिजनों के साथ क्षेत्र के लोग वंशिका गुप्ता के शव को लखनऊ- प्रयागराज नेशनल हाईवे पर स्थित बछरावां चौराहे पर रखकर प्रदर्शन करते हुए हत्यारों को फांसी की सजा की मांग करने लगी। बेटी हम शर्मिंदा हैं, तुम्हारे कातिल जिंदा है, बिटिया के हत्यारों को फांसी दो,फांसी दो के नारों से समूचा बछरावां कस्बा गूंज उठा। बेटी को न्याय दिलाने के लिए हाईवे पर उमड़ी भीड़ के चलते बछरावां की सड़कों पर वाहनों का पहिया थम गया।

परिजनों को शांत कराते हुए पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन

विदित हो कि शनिवार को शाम करीब 4 बजे हरचंदपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत गंगागंज के समीप स्थित गोपाल ढाबे के पीछे उषा सिंह पुत्री अमरनाथ सिंह की बाग में एक अधजली युवती की लाश मिली थी। जिसकी खबर से पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए थे। खबर मिलते ही आनन-फानन में मौके भारी तादात में पुलिस सहित फॉरेंसिक टीम एवं पुलिस अधीक्षक ने पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया था। पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को अपने कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेज दिया था। शनिवार की देर शाम तक शव की शिनाख्त नहीं हो सकी थी। वहीं देर शाम तक बेटी के कॉलेज से घर वापस न लौटने पर परेशान परिजनों ने रायबरेली से लेकर कॉलेज तक काफी खोजबीन की थी किंतु छात्रा का कहीं पता नहीं चल सका। रविवार की सुबह परिवारी जनों ने समाचार पत्रों में युवती का अधजला शव मिलने की खबर पढ़कर परिजनों ने मौके पर जाकर शिनाख्त की तो पता चला उनकी बेटी वंशिका है।

घटनास्थल पर जांच करती फॉरेंसिक टीम एवं पुलिस : फाइल फोटो

विदित हो कि बछरावां कस्बे के सब्जी मंडी के रहने वाले दिलीप गुप्ता की पुत्री वंशिका गुप्ता (21) महावीर इंस्टीट्यूट हरचंदपुर में बीएससी फाइनल ईयर की छात्रा थी। परिजनों के मुताबिक रोज की तरह शनिवार को वह कॉलेज पढ़ने गई थी। रविवार को परिजनों द्वारा अधजले शव की पहचान करने पर कई थानों की पुलिस फोर्स मौके पर तैनात कर दी गई थी, वहीं पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन सहित आईजी एस.के.भगत लखनऊ ने घटनास्थल का बारीकी से जायजा लिया था और अज्ञात अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की बात कही थी। किंतु 36 घंटे बीत जाने के बाद पुलिस के हाथ खाली देखकर लोग आक्रोशित हो उठे और प्रातः करीब 8:30 बजे मृतका वंशिका गुप्ता के शव को लखनऊ – प्रयागराज नेशनल हाईवे पर रखकर हत्यारों को फांसी की सजा की मांग करने लगे।

हत्यारों को फांसी की मांग को लेकर सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट

बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए उमड़े जनसैलाब से हाईवे बिल्कुल जाम हो गया। बछरावां की गलियों में जहां के तहाँ वाहनों के पहिए थम गए। सूचना मिलते ही आनन-फानन में बछरावां, शिवगढ़, महराजगंज, हरचंदपुर, लालगंज, सदर सहित कई थानों के पुलिस फोर्स के साथ ही मौके पर पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन, एडिशनल एसपी नित्यानंद राय, महराजगंज एसडीएम विनय कुमार सिंह, सदर एसडीएम, महराजगंज क्षेत्राधिकारी पहुंच गए और कार्यवाही का भरोसा देकर परिजनों को मनाने लगे। पुलिस अधीक्षक द्वारा सख्त से सख्त कार्यवाही एवं महराजगंज एसडीएम विनय कुमार सिंह, बछरावां विधायक रामनरेश रावत के आश्वासन के पश्चात करीब 10:15 बजे परिजनों एवं क्षेत्र के लोगों का प्रदर्शन समाप्त हुआ।

परिजनों को समझाते हुए पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन

परिजनों को मिलेगा 5 लाख का मुआवजा

महराजगंज एसडीएम विनय कुमार सिंह व बछरावां विधायक रामनरेश रावत ने परिजनों को समझाते-बुझाते हुए शासन की ओर से 5 लाख रुपए का मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया और कहाकि बेटी के जाने का गम हम सभी को है। बेटी वंशिका के कातिलों को सख्त से सख्त सजा मिलेगी।

एसपी ने दिया कठोर से कठोर कार्यवाही का आश्वासन

प्रदर्शन की सूचना पर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन ने परिजनों एवं प्रदर्शन कर रहे लोगों को शांत कराते हुए कहा कि अभियुक्तों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्यवाही की जाएगी। वंशिका गुप्ता के कातिल किसी भी हाल में बक्से नहीं जाएंगे।

जिला पंचायत अध्यक्ष ने दी एक लाख की मदद

मृतका वंशिका का अंतिम संस्कार होने के बाद मृतका के घर पहुंचे जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश प्रताप सिंह ने सहायता राशि के रूप में परिजनों को एक लाख रुपए की चेक दी है एवं परिजनों को ढाढ़स बनाते हुए हर संभव मदद का भरोसा दिया। श्री प्रताप सिंह ने कहाकि इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है। बेटी वंशिका की हत्या से समूचा जिला आहत है।

लाश पर न करे राजनीति : रामनरेश रावत

हत्यारों को फांसी की सजा की मांग करते हुए पूर्व विधायक रामलाल अकेला

वंशिका गुप्ता के शव को हाईवे पर रखकर बेटी के हत्यारों को फांसी की सजा की मांग कर रहे परिजनों एवं क्षेत्र के लोगों के साथ बेटी हम शर्मिंदा हैं तुम्हारे कातिल जिंदा है, बेटी के हत्यारों को फांसी दो के नारे लगा रहे पूर्व विधायक रामलाल अकेला को देखकर क्षेत्रीय विधायक रामनरेश रावत ने कहा कि लाश पर राजनीति ना करें। जिसको लेकर वर्तमान विधायक रामनरेश रावत एवं पूर्व विधायक रामलाल अकेला में कुछ झड़प भी हुई। हालांकि बाद में मामला पूर्ण रूप से शांत हो गया।

अंतिम यात्रा में लगा रहा तांता

वंशिका गुप्ता के शव को कंधा देते हुए विधायक रामनरेश रावत

बीएससी की छात्रा वंशिका गुप्ता की अंतिम दर्शन यात्रा में जनसैलाब उमड़ पड़ा। अंतिम संस्कार के समय जन सैलाब के साथ ही भारी तादाद में पुलिस मौजूद रही। विधायक रामनरेश रावत ने वंशिका गुप्ता के शव को कंधा देकर गहरी शोक संवेदना व्यक्त करते हुए अपनेपन का एहसास कराया।

पीएम करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्यवाई की मांग

मृतका वंशिका गुप्ता के परिजनों एवं प्रदर्शन कर रहे लोगों में वंशिका का पीएम करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ काफी रोष व्याप्त रहा। परिजनों ने पीएम करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टरों ने पीएम में हीला हवाली करने के साथ ही अभद्रता की है। डॉक्टर के पेशे को बदनाम करने वाले ऐसे डॉक्टरों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। क्षेत्रीय विधायक रामनरेश रावत ने डॉक्टर के खिलाफ कार्यवाही कराने का आश्वासन दिया है।

पीएम रिपोर्ट में किसी भी प्रकार की दुष्कर्म की रिपोर्ट नहीं आई है। अब तक की तफ्तीश से लगता है किसी ऐसे व्यक्ति जो परिचित है उसी के द्वारा घटना कारित की गई है। अभी कुछ कह पाना मुश्किल है। घटना के समय को देखते हुए भले ही कुछ समय लगे हम चाहते हैं सही मुजरिमों को जेल भेजा जाए – पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन

पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन
Total Page Visits: 1086 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *