जूनियर छात्रों ने सीनियर छात्रों को नम आंखों से दी विदाई

Raebareli Uttar Pradesh

विदाई समारोह में छात्र-छात्राओं की आंखों से छलके आंसू

परीक्षा को लक्ष्य मानकर तैयारी करें,सफलता जरूर मिलेगी : विवेक बाजपेई

अंगद राही

रायबरेली।वर्षों से शिक्षा के क्षेत्र में अग्रणी शिवगढ़ क्षेत्र के न्यू पब्लिक एकाडमी इण्टर कॉलेज भवानीगढ़ में खुशी और गम के बीच विदाई समारोह मनाया गया। इंटरमीडिएट के छात्र- छात्राओं को विदाई देते समय जूनियर छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों की आंखें नम हो गई। किसी ने सच ही कहा है वक्त नूर को बेनूर बना देता है, थोड़े से जख्म को नासूर बना देता है, कोई जुदा नहीं होना चाहता अपनों से, लेकिन ए वक्त सबको मजबूर बना देता है। विदाई समारोह में छात्र छात्राओं ने नृत्य एवं गीत प्रस्तुत करके सभी का मन मोह लिया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ विद्यालय के संस्थापक सतीशचंद्र बाजपेई, प्रबंधक विवेक बाजपेई, प्रधानाचार्य अनूप पाण्डेय, प्राइमरी विंग प्रधानाचार्य अंकित तिवारी ने संयुक्त रूप से मां सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख दीप प्रज्जवलित करके किया गया।विद्यालय के छात्र आभास वर्मा,विशाल अवस्थी,रविशंकर,उत्तम पटेल,अमर सिंह, विनीत, कशिश मिश्रा वर्मा,शशांक, उज्ज्वल,निशान्त तिवारी, छात्रा अनन्या,अनीशा,अनुप्रिया, अंकिता,सोनाली,रिन्कू,,इशिता पाण्डेय,नैन्शी तिवारी ने नृत्य एवं गीतों की अनुपम प्रस्तुति देकर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

गुरु और शिष्य का रिश्ता अटूट होता है

विद्यालय के प्रधानाचार्य अनूप पांडेय ने नम आंखों से छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि गुरु और शिष्य का रिश्ता अटूट होता है। शिष्य का गुरु के प्रति सम्मान और गुरु का शिष्य के प्रति स्नेह और आशीर्वाद जीवन पर्यंत रहता है जिसे कोई मिटा नहीं सकता। शिक्षकों में भेदभाव की कही संभावना नहीं होती है।

यही एक पवित्र रिश्ता होता है जिसमें देने की ललक होती है, पाने की नहीं। शिक्षक विद्यार्थी को चाहे जितना कुछ दे-दे किंतु शिक्षक को हमेशा कम लगता है। श्री पांडेय ने छात्र-छात्राओं को परीक्षा की सफलता के लिए शुभकामनाएं देते हुए कहा कि परिश्रम कभी व्यर्थ नहीं जाता जो निरंतर चलते रहते हैं वे कभी असफल नहीं हो सकते। श्री पांडेय ने कहा कि इस विद्यालय के बच्चों ने हमेशा परीक्षा में इतिहास रचा है और इस बात को साबित कर दिखाया है कि “सपने उन्हीं के सच होते हैं जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है।

” वहीं विद्यालय के प्रबंधक विवेक बाजपेई ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि परीक्षा में किसी प्रकार से घबराने की जरूरत नहीं है परीक्षा को एक लक्ष्य मानकर अपना परचम फहराना है। श्री बाजपेई ने कहा कि विद्यालय के शिक्षक विद्यालय में पढ़ने वाली प्रत्येक छात्र का भविष्य में भी मार्गदर्शन करते रहेंगे छात्राओं के लिए इस विद्यालय के द्वार हमेशा खुले रहेंगे। कार्यक्रम का सफल और प्रभावी संचालन कर रही विद्यालय की छात्रा इशिता पांडेय ने अपने संबोधन में कहा कि नम आंखों से विदा आज आपको करेंगे, आपके बिन अकेले कैसे हम रहेंगे, जो प्यार आपसे मिला अनमोल तोहफा था, आपके बिछड़ने का गम कैसे हम सहेंगे।

इसी क्रम में प्राइमरी विंग प्रधानाचार्य अंकित तिवारी, डॉ. संजय कुमार, डॉ.सुरेश शुक्ला, शिक्षक राजकुमार गुप्ता,रत्नेश, अनिरुद्ध ,अवधेश कुमार, पुष्कर शुक्ला, जमुना प्रसाद, अभिषेक शुक्ला,अभिषेक तिवारी, श्यामू तिवारी,राजीव, देवी प्रसाद, चंद्रशेखर,वैशाली, अन्नपूर्णा,प्रतिज्ञा,अर्चना, प्रियंका, कृपाशंकर सहित शिक्षकों ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए परीक्षा की सफलता के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं दी।

Total Page Visits: 368 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *