सीएम योगी ने सिविल में वैक्सीन लगवाने वाले बुजुर्गों से पूछा हाल,अस्‍पताल का किया निरीक्षण

Lucknow Uttar Pradesh

प्रमोद राही

लखनऊ।कोविड-19 वैक्सीनेशन के तीसरे चरण के तहत सोमवार को लखनऊ के चार अस्पतालों में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन किया गया। इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सिविल अस्पताल में सुबह करीब 10:00 बजे पहुंचकर वैक्सीन लगवाने वाले बुजुर्गों से बातचीत की। उन्होंने वेटिंग एरिया, वैक्सीनेशन कक्ष इत्यादि का निरीक्षण किया और करीब 15 मिनट तक रुकने के बाद वह चले गए। इस दौरान वैक्सीन लगवाने के लिए काउंटर पर बुजुर्गों की भीड़ लगी रही। हालांकि कई बुजुर्ग ऐसे आए जो 60 साल से ऊपर थे। बावजूद उनका रजिस्ट्रेशन कोविन पोर्टल में नहीं हो सका।कोविड पोर्टल में सिर्फ उनका ही रजिस्ट्रेशन हो सका, जिनकी पैदाइश 1959 से पहले की है। लेकिन जिनका जन्म 1960 में उसके बाद हुआ है, उसका रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके सिंह ने बताया कि यह तकनीकी दिक्कत के कारण है। संबंधित को इसकी सूचना दे दी गई है। इसे ठीक कराया जा रहा है।स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों के अनुसार सोमवार को पहले दिन सिविल अस्पताल में 100 लोगों को, केजीएमयू में 400, लोहिया संस्थान में 300 और शेखर हॉस्पिटल में 100 लोगों को वैक्सीन लगाई जानी थी, लेकिन सभी जगह निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा रजिस्ट्रेशन किए गए।
शेखर हॉस्पिटल में प्रत्येक डोज का ढाई सौ रुपये चार्ज लिया जा रहा है। जबकि केजीएमयू लोहिया संस्थान व सिविल अस्पताल में मुफ्त में टीके लगाए गए। सिविल अस्पताल में कोविड-19 वैक्सीनेशन के नोडल प्रभारी डॉ एनबी सिंह ने बताया कि सीएम योगी ने वैक्सीन कक्ष का पूरा निरीक्षण किया। उन्होंने मरीजों से बातचीत की और उसके बाद उन्होंने पूरे वैक्सीनेशन कार्यक्रम की सराहना की।
वृंदावन योजना से आई सेवा निवृत्त आइएएस कुमुद लता श्रीवास्तव ने कोविड-19 की पहली डोज ली। उनके पति सेवानिवृत्त आइएफएस अजय कुमार श्रीवास्तव ने भी वैक्सीन लगवाई। फिर बताया कि आराम से उनका रजिस्ट्रेशन हुआ। वैक्सीन लगवाने के बाद कोई दिक्कत महसूस नहीं हुई। इसी तरह गोमती नगर में रहने वाले सिविल अस्पताल के सेवानिवृत्त डॉ जयप्रकाश सिंह ने भी वैक्सीन लगवाई। उन्होंने बताया कि टीका लगवाने के बाद कोई दिक्कत नहीं हुई, बल्कि इससे उनका हौसला बढ़ा है। उनके साथ आए केआर तिवारी ने भी वैक्सीन की पहली डोज ली। उन्होंने कहा कि रजिस्ट्रेशन भी आसानी से हुआ और वैक्सीन भी लग गई। कोई समस्या नहीं हुई। वहीं 70 वर्षीय श्रीराम सिंह ने लोहिया संस्थान में पहली डोज ली।

Total Page Visits: 183 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *