शैक्षिक उन्नयन के सूत्रधार मुंशी चंद्रिका प्रसाद के स्मृति कक्ष का लोकार्पण

Raebareli Uttar Pradesh

दीपचन्द मिश्रा

बछरावां,रायबरेली। दयानंद बछरावां पीजी कॉलेज में मुंशीगंज गोलीकांड का श्रद्धांजलि समारोह आयोजन एवं महान कर्मयोगी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मुंशी चंद्रिका प्रसाद गुरुजी के स्मृति कक्ष का लोकार्पण करके किया गया। विदित हो कि गुरु जी चंद्रिका प्रसाद के कक्ष में उनके संरक्षित अवशेष स्मृतियों को रखा गया है। जिसे आज जनता को समर्पित कर दिया गया। जिसे देखकर इस महान संत के बारे में आम जनता जाने और उनके समाज कल्याण के लिए किए गए योगदान को समझ सके। इस लोकार्पण समारोह के मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक माननीय राम नरेश रावत थे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर पंचायत अध्यक्ष शिवेंद्र सिंह (रामजी) ने की थी।

इस अवसर पर विधायक राम नरेश रावत ने कहा कि गुरुजी बछरावां के गांधी एवं मालवीय थे। आज वे पित्र लोक में वास करके अपने आशीष के माध्यम से समतामूलक समाज की स्थापना का संदेश दे रहे हैं, क्षेत्रीय विधायक ने धर्म दर्शन एवं साहित्य की विवेचना करते हुए सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ सुभाष चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि गुरुजी जन-जन के नायक हैं, वे बछरावां रायबरेली के विकास की महक हैं, गुरुजी मानवता एवं मातृभूमि के सच्चे पुजारी थे। मुंशीगंज गोली कांड के बारे में बताते हुए महाविद्यालय के प्राचार्य ने कहा कि जंगे आजादी के दौरान रायबरेली में भी अंग्रेजी हुक्मरानों के विरुद्ध किसानों में आक्रोश पैदा हुआ और 7 जनवरी 1921 को मुंशीगंज में सईं नदी के किनारे हजारों हजार किसानों का जमावड़ा एकत्रित हुआ, उन किसानों को संबोधित करने के लिए पंडित जवाहरलाल नेहरू को भी आना था, पंडित जवाहरलाल नेहरू इस जनसभा तक पहुंच पाते इससे पूर्व देश के कुछ गद्दारों द्वारा अंग्रेजों को सूचना देकर उकसाया गया और अंग्रेजी फौजियों ने सभा में मौजूद किसानों को चारों ओर से घेर लिया और ताबड़तोड़ गोलियां चलाने लगे, सई नदी का पानी रक्तरंजित हो उठा, हजारों लाखों किसानों ने वंदे मातरम कहते हुए दम तोड़ दिया। विशेष कार्याधिकारी डॉ रामनरेश ने कहा कि”मुंशी चंद्रिका प्रसाद गुरु जी ने बछरावां क्षेत्र में स्वास्थ्य एवं शिक्षा की अलख जगाई थी। अपने अध्यक्षीय भाषण में नगर पंचायत अध्यक्ष शिवेंद्र सिंह राम जी ने स्मृति कक्ष के संरक्षण के लिए 21000₹ देने की घोषणा की और कहा कि गुरु जी ने जो बछरावां के विकास की अलख जगाई है उस पर चलने का प्रयास करूंगा।

उत्कर्ष पब्लिक इंटर कॉलेज के संस्थापक भगवान कुमार अवस्थी ने गुरुजी द्वारा बछरावां के लिए किए गए योगदान को याद किया। डॉ कल्पना श्रीवास्तव ने आए हुए अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि आज मुंशीगंज शहीद दिवस के दिन इस महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के स्मृति कक्ष का उदघाटन शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि है। प्रो उमापति त्रिपाठी ने गुरुजी के साथ बिताए अपने पलों को याद किया। इस अवसर पर मिनी जंबूरी से वापस आई महिमा, उमा दुबे एवं निकिता को महाविद्यालय के परिवार की ओर से सभी अतिथियों ने सम्मानित किया। इस अवसर पर प्रो के बी गौड़, डॉ विष्णु चंद श्रीवास्तव, डॉ शालिनी श्रीवास्तव, डॉ शिशिर श्रीवास्तव, श्री राजेश चंद्रा, डॉ प्रमोद बाजपेई, डॉ सत्येंद्र सिंह राठौर, डॉ संभव सिंह, विजय गुप्ता, सुखवीर सिंह, भूपेंद्र, कमलेश, प्रवीण शुक्ला सहित महाविद्यालय की शिक्षक, शिक्षणेत्तर कर्मचारी व एनसीसी कैडेट व छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Total Page Visits: 167 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *