पुलिस के आला भले ही अपने मातहतों को जनता के साथ मित्रवत ब्यवहार की सीख दे , लेकिन पुलिस अपना बर्ताव बदलने को तैयार नहीं

Lucknow Uttar Pradesh लापरवाही

पीड़ित परिवार ने ए सी पी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है

मुकेश रावत

सरोजनी नगर लखनऊ।पुलिस के आलाधिकारी भले ही अपने मातहतों को जनता के साथ मित्रवत व्यवहार की सीख दें। पर लगता है पुलिस अपना बर्ताव बदलने को तैयार नही है ।ऐसा ही एक मामला बंथरा थाने की हरौनी पुलिस चौकी की पुलिस को देखने को मिला है ।जहां पर एक नाबालिग पर ही पुलिस ने शांतिभंग का मुकदमा कायम कर दिया है। पीड़ित परिवार ने अब एसीपी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगायी है।राजधानी के थाना बन्थरा की पुलिस चौकी हरौनी के गाँव महेंद्र का मजरा रहीम नगर पड़ियाना निवासी नाबालिग बच्चे अरूण कुमार पुत्र मोहन लाल उम्र १३ वर्ष जिसके ऊपर हरौनी चौकी के चौकी इंचार्ज राजेश मिश्रा ने भाई भाई के आपसी विवाद में अरूण कुमार के ऊपर १०७/११६ में पाबंद कर दिया है। जबकि यह नियम है कि यह धारा १८ वर्ष से कम उम्र के लोगों पर लागू नहीं होती है। चौकी इंचार्ज के इस कृत्य से पीड़ित अरूण कुमार व उसका परिवार काफी परेशान है । पीड़ित ने एसीपी को पत्र भेजकर जांच कर न्याय की गुहार लगाई है। यह कोई पहला मामला नही है, बल्कि इससे पहले भी ये दरोगा गरीब पीडितों के साथ इस तरह का व्यवहार करने में नहीं चुके हैं। बता दे की हरौनी क्षेत्र में लगातार चोरी व लूट की घटनाएं बढ़ रही है जिसे रोक पाने में चौकी इंचार्ज असफल दिखाई दे रहे हैं। अभी हाल ही में हरौनी गाँव में चल रहे महायज्ञ रासलीला देखने जा रही बेटी से अधेरे का फायदा उठाकर कुछ अज्ञात लोगों ने मोबाइल छीन लिया ।जिसकी तहरीर भी चौकी इंचार्ज को दी गई , लेकिन इस पर उनके द्वारा अब तक कोई कार्यवाही नही की गयी है।

Total Page Visits: 15 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *