प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस आज, गर्भवती महिलाओं की होगी जांच

Uttar Pradesh बुलन्दशहर

●जच्चा-बच्चा दोनों की सुरक्षा के लिए होती है जांच

●उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को किया जाता है चिन्हित

 
बुलंदशहर। स्वास्थ्य विभाग द्वारा गर्भवती को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध कराने का प्रयास जारी है। जनपद के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर मातृ मृत्यु एवं शिशु मृत्यु दर को कम करने के लिए प्रत्येक माह की नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती महिलाओं की प्रसव पूर्व जाँच की जाती है। सभी जांच निःशुल्क जांच होती हैं। 
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नरेश गोयल ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग का उद्देश्य यही रहता है कि जन्म लेने वाले बच्चे और माता दोनों का स्वास्थ्य व जीवन सुरक्षित रहे I इसके लिए प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस के अन्तर्गत दूसरी व तीसरी तिमाही की सभी गर्भवती की कम से कम एक जाँच वरिष्ठ चिकित्सक या प्रसूति एवं स्त्री विशेषज्ञ के द्वारा करायी जाती है। डा. गोयल ने बताया कि ग्रामीण परिवेश में सभी गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व देखभाल के लिए प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान दिवस के अन्तर्गत सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर हर माह की प्रत्येक नौ तारीख को 10 बजे से 3 बजे के मध्य सेवाएं दी जाती हैं। प्रसव के पूर्व चार बार जाँच की जाती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर  गर्भवती महिला को शरीर में खून की कमी, रक्त समूह, वजन, यूरिन, मधुमेह, एच.आई.वी., सिफलिस की जाँच की जाती है , ताकि प्रसव में होने वाले जोखिम की पहचान हो सके और समय रहते माँ व बच्चे दोनों को सुरक्षित किया जा सके। इस विशेष दिवस पर उच्च जोखिम वाली गर्भवती महिलाओं को चिन्हित कर विशेष स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए जनपद स्तर की चिकित्सा इकाई पर रैफर किया जाता है। 
जिला मातृत्व परामर्श दाता हिमांशू सचदेवा ने बताया नौ फरवरी को जनपद में समस्त स्वास्थ्य केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क प्रसव पूर्व देखभाल की सेवाएं दी जाएंगी। जरूरत के हिसाब से उच्च चिकित्सा इकाई पर प्रबंधन और सुरक्षित संस्थागत प्रसव के लिए रेफर किया जायेगा।

Total Page Visits: 23 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *