आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना

Uttar Pradesh बुलन्दशहर स्वास्थ्य

जनपद में 14 आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति

बुलंदशहर। सरकार की महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना के तहत गरीब और जरूरतमंद लोगों को सुपर स्पेशिएलिटी हॉस्पिटल में इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को निजी अस्पताल में भी पांच लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा है, लेकिन जागरूकता के अभाव में लाभार्थी योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। ऐसे में योजना को और ज्यादा  प्रभावी बनाने के लिए जनपद में 14 आयुष्मान मित्रों की नियुक्ति की गई है। योजना को मरीज की पहुंच तक लाने में आयुष्मान मित्र अहम भूमिका अदा करेंगे। मरीज के अस्पताल में दाखिले से लेकर इलाज तक की हर कागजी कार्यवाही की जिम्मेदारी भी आयुष्मान मित्र निभाएंगे। जनपद में नवनियुक्त 14 आयुष्मान मित्रों को फिलहाल लाभार्थियों को जागरूक करने और उनके गोल्डन कार्ड बनाने की जिम्मेदारी दी गयी है। जिला कुष्ठ रोग अधिकारी व नोडल अधिकारी डा. पीपी सिंह ने बताया आयुष्मान मित्रों की तैनाती का मुख्य उद्देश्य जनता को आयुष्मान भारत योजना के बारे में जानकारी देने और मरीजों की मदद करना है। जानकारी के अभाव में तमाम सरकारी योजनाओं का लाभ गरीब व जरूरतमंद मरीजों तक नहीं पहुंच पाता है। ऐसे में आयुष्मान भारत योजना को सफल और सहज बनाने के लिए आयुष्मान मित्रों को माध्यम बनाया गया है। वह लाभार्थियों को योजना के बारे में बताने के साथ ही उसकी सुविधा दिलाने में अस्पताल और मरीज के बीच की मुख्य कड़ी होंगे। मरीज और अस्पताल के बीच की सभी कागजी कार्यवाही पूरी करने का जिम्मा भी इनका ही होगा। वह मरीज को अस्पताल में दाखिल होने से लेकर इलाज कराकर घर जाने तक हर कदम पर उसकी मदद करेंगे। जनपद में आयुष्मान भारत योजना में सरकारी अस्पतालों के साथ नौ निजी अस्पताल को शामिल गया है।
उन्होंने बताया इस योजना में लाभार्थी परिवार को प्रतिवर्ष पांच लाख रुपये का मुफ्त हेल्थ बीमा प्रदान किया जाता है। इस योजना की मुख्य बात यह है कि यह पूरी तरह पेपर लेस तथा कैशलेस है, यानि मरीज या उसके परिवार को कोई पैसा एडवांस में सरकार या किसी निजी अस्पताल में नहीं जमा करना पड़ता है। इस योजना में शामिल होने के लिए किसी प्रकार का आवेदन करने की जरूरत नहीं पड़ती। इस योजना में भारत सरकार द्वारा शुरुआत में स्वत ही उन लोगों को शामिल कर लिया गया है जो पूर्णत गरीब है, छोटे मोटे कार्य करके अपने परिवार का पालन पोषण करते हैं। कैंसर, दिल की बीमारी, किडनी और लीवर की बीमारी, डायबटीज समेत 1525 से अधिक बीमारियों का इलाज शामिल है।

Total Page Visits: 25 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *