जनता इण्टर कालेज गूढ़ा में छात्र-छात्राओं को यातायात के प्रति किया गया जागरूक

Raebareli Uttar Pradesh जागरूकता

● मिशन शक्ति अभियान के तहत छात्राओं को सिखाए गए आत्मरक्षा के गुर

रायबरेली। राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के तहत शिवगढ़ क्षेत्र के जनता इण्टर कॉलेज गूढ़ा में विद्यालय के छात्र-छात्राओं को यातायात के नियम बताकर जागरूक किया गया। वहीं मिशन शक्ति अभियान के तहत कॉलेज की छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाए गए। कार्यक्रम की शुरुआत कॉलेज के प्रधानाचार्य रमेश कुमार सिंह द्वारा मां सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्वलन से की गई। कॉलेज के शिक्षक धनंजय कुमार अवस्थी ने छात्र-छात्राओं को यातायात के नियम बताकर जागरूक करते हुए कहा कि सड़क पर चलते समय हमेशा अपनी साइड में चलें। सड़क पर मुड़ते समय हमेशा आगे-पीछे एवं दाएं बाए देखकर मुंडे। खुद यातायात के नियमों का पालन करें और अपने घर परिवार के लोगों को जागरूक करें, कि जब भी मोटरसाइकिल से निकले हेलमेट लगाकर निकले। कार अथवा अन्य चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट लगाकर वाहन चलाएं और गाड़ी पर बैठी अन्य सवारियों से भी कहें कि सीट बेल्ट का प्रयोग करें। अपने सभी जानने वालों को प्रेरित करें कि अपने लिए न सही अपने परिवार की खुशी के लिए यातायात के नियमों का पालन करें। वहीं विद्यालय की शिक्षिका उपासना वर्मा ने विद्यालय की छात्राओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाएं। छात्राओं को प्रयोगात्मक रूप से बताया कि किस प्रकार से उन्हें अपनी आत्मरक्षा करनी है। कॉलेज के प्रधानाचार्य रमेश सिंह ने छात्र-छात्राओं को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि वर्तमान समय में तेजी से दुर्घटनाएं हो रही हैं। जिसका मुख्य कारण यातायात के नियमों का पालन न करना अथवा तेज गति से वाहन चलाना है। श्री सिंह ने कहा कि सभी बच्चे अपने परिवार के सदस्यों को बताएं कि अच्छी तरह वाहन चलाना सीखने के बाद ही हाईवे अथवा सड़कों पर वाहन लेकर निकलें। तेज गति से वाहन बिल्कुल ना चलाएं, सड़क पर जब भी चलें मन केंद्रित करके चलें। जरा सी लापरवाही काल के गाल में धकेल सकती है। अथवा हमेशा के लिए अपाहिज बना सकती है। श्री सिंह ने कहा कि अपने सभी जानने वालों से अपील करें कि पुलिस के डर से नही अपनी आत्मरक्षा के लिए यातायात के नियमों का पालन करें। श्री सिंह ने छात्राओं को जागरूक करते हुए कहा कि यदि कोई रास्ते में परेशान करता है अथवा गलत नियति से देखता है तो उसकी जानकारी महिला शिक्षकों को अवश्य दें। समस्या का पूरा समाधान किया जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि सभी बच्चियां भयमुक्त होकर विद्यालय आएं किसी से डरने या घबराने की जरूरत नही है।

Total Page Visits: 125 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *