बिचौलियों का धान सीधे राइस मिल में उतरता है,क्रय केंद्र पर किसानों को मिलता है टोकन और लम्बी तारीख

Raebareli Uttar Pradesh

● राइस मिलर व प्रभारी अपने फायदे के लिए सिर्फ कागज पर खरीते है धान

टी.पी.यादव

महराजगंज,रायबरेली। एमएसपी को लेकर एक ओर जहां किसान देशभर में आंदोलन कर रहे हैं, तहसील महराजगंज उपमंडी में किसानों के साथ बड़े धोखे का मामला प्रकाश में आया है। राज्य सरकार प्रदेश में किसानों की फसलों को एमएसपी पर खरीदने की कोशिश का दावा कर रही है लेकिन क्रय केंद्र प्रभारी राइस मिलों से साठगांठ कर केवल कागज पर ही धान खरीद रहे हैं।प्रभारियों पर धान खरीद के दौरान किसानों के साथ धोखाधड़ी करने के साथ राइस मिल मालिकों को लाभ पहुंचाने का आरोप छेत्रीय किसान लगा रहे है। जानकारी के मुताबिक महराजगंज छेत्र के कई किसानों ने जिलाधिकारी से शिकायत की थी कि क्षेत्र में बनाए गए खाद्य एवं रसद विभाग व आवश्यक वस्तु निगम स्थित केंद्रों पर किसानों से धान की खरीद ना करके मिलरों से धान खरीदने के बाद फर्जी खतौनी लगाकर उसे पास किया जा रहा है। यहाँ किसानों से धान की खरीददारी का विभागीय दावा तो खूब किया जा रहा है लेकिन किसान धान की उपज को बेचने के लिए परेशान है। अभी भी
किसान अपना धान बेचने के लिए क्रय केंद्र पर ले जा रहे हैं तो कहीं बोरा ना होने तो कहीं धान की खरीद कमीशन पर होने की बात सामने आ रही है। लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों के कानों में जूं नही रेंग रही है।छेत्र के किसानों का कहना है जल्द ही ऐसे भ्रष्ट कर्मचारियों पर कार्यवाही नही हुई तो इसकी शिकायत किसान मुख्यमंत्री से करेंगे

Total Page Visits: 18 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *