किसानों में भ्रम फैलाने के साथ उनको गुमराह किया गया : प्रधानमंत्री मोदी

Lucknow National भाजपा

प्रमोद राही

लखनऊ।पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की 97वीं जयंती पर आज पीएम नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को बड़ी आर्थिक मदद देने के साथ उनके साथ संवाद भी दिया। सुशासन दिवस पर उन्होंने देश के लोगों के साथ बड़ी संख्या में किसानों को भी संबोधित किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए कृषि कानूनों को लेकर विभिन्न राज्यों के किसानों के साथ संवाद किया। इस दौरान उन्होंने पीएम किसान सम्मान निधि योजना की सातवीं किस्त को नौ करोड़ से अधिक किसान लाभाॢथयों के खातों में ट्रांसफर किया। किसान संवाद के दौरान पीएम मोदी ने नए कृषि कानूनों से जुड़े किसानों के सवालों का भी जवाब दिया। उन्होंने कहा कि किसानों के जीवन में खुशी, हम सभी की खुशी बढ़ा देती है। सभी देशवासियों को क्रिसमस की शुभकामनाएं। मेरी कामना है कि क्रिसमस का यह त्योहार विश्व में प्रेम, शांति और सद्भाव का प्रसार करे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कुछ लोग ऐसा भ्रम फैला रहे हैं कि आपकी फसल का कोई कांट्रैक्ट करेगा तो जमीन भी चली जाएगी। यह लोग इतना बड़ा झूठ बोल हैं, जिसकी कोई कल्पना नहीं कर सकता। किसान के नाम पर देश में परेशानी बढ़ाई गई है। यह किस विचारधारा के लोग कर रहे हैं पता नहीं। भाइयों किसानों को गुमराह किया गया। उत्तर प्रदेश में महराजगंज के किसान रामगुलाब ने पीएम मोदी को बताया कि उन्होंने किसानों का संगठन बनाया है, जो मिलकर काम करते हैं।सभी किसान अलग-अलग तरह की खेती करते हैं। रामगुलाब ने बताया कि उन्होंने अहमदाबाद की कंपनी से एग्रीमेंट किया है, पहले हम बाजार में 10-15 रुपये में फसल बेचते थे, अब 25 रुपये में बेच रहे हैं। रामगुलाब से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि कुछ लोग झूठ फैला रहे हैं कि नए कानून से जमीन चली जाएगी। इससे पहले आज देश के 9 करोड़ से ज्यादा किसान परिवारों के बैंक खाते में सीधे, एक क्लिक पर 18 हज़ार करोड़ रुपए जमा हुए हैं। जब से यह योजना शुरू हुई है, तब से किसानों के खाता में एक लाख 10 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा पहुंच चुके हैं।पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर किसानों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाले वित्तीय लाभ की अगली किस्त जारी की। प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक बटन दबाकर नौ करोड़ से अधिक लाभार्थियों के खातों में 18 हजार करोड़ रुपया ट्रांसफर कर दिया। इसके बाद उन्होंने उत्तर प्रदेश सहित छह राज्यों के किसानों के साथ संवाद भी किया। उत्तर प्रदेश के हर जिले में किसान इस संवाद के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी से जुड़े। उत्तर प्रदेश में 2500 से अधिक जगह पर किसानों के लिए पीएम का संबोधन सुनने की व्यवस्था की गई। लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ और कानपुर में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, रायबरेली में डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा, अमेठी में केंद्रीय मंत्री स्मृति जुबिन ईरानी तथा अन्य जिलों में भी मंत्री, सांसद तथा विधायकों के साथ किसानों ने पीएम मोदी का संबोधन सुना।गौरतलब है पीएम-किसान योजना के तहत हर साल तीन किस्तों में दो हजार रुपये की राशि सीधे किसान के बैंक खातों में भेजी जाती है। उत्तर प्रदेश में किसान संवाद कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत प्रमुख नेता अलग-अलग स्थानों पर शामिल होंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ में तथा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह उन्नाव में आयोजित संवाद कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे।इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के सदैव अटल स्मारक पहुंच पूर्व पीएम वाजपेयी को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद वह संसद भवन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। जहां पर देश के दिग्गज नेता भी थे। इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के संसद में दिए गए भाषणों पर छपी किताब का विमोचन भी किया गया।

Total Page Visits: 143 - Today Page Visits: 4

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *