किसान भाई फसलों के अवशेष को जलाएं नहीं, कंपोस्ट खाद बनाएं : शैलेंद्र कुमार

Raebareli Uttar Pradesh

● फसलों के अवशेष से कंपोस्ट खाद बनाने के लिए सरकार दे रही अनुदान

अंगद राही / विपिन पाण्डेय

रायबरेली। महराजगंज उप जिलाधिकारी विनय कुमार मिश्रा के निर्देश पर लेखपालों ने ग्राम पंचायतों में किसानों के साथ बैठक कर पराली न जलाने की अपील की। जिसके क्रम में लेखपाल शैलेंद्र कुमार ने कानूनगो श्रीराम के साथ ग्राम पंचायत नारायनपुर और भौसी में किसानों के साथ बैठक कर सभी किसानों भाइयों से अपील करते हुए कहा कि खेतों में पराली ना जलाएं। पराली जलाने से उठने वाला धुआं हवा में घुलकर पर्यावरण को प्रदूषित करता है। जो हम सभी के लिए हानिकारक है। शैलेंद्र कुमार ने किसानों से अपील करते हुए कहा कि कंबाइंड मशीन से धान की फसल कटाने के बाद उसके बचे अवशेष को खेत में जुतवा दें। अथवा खेत में एक कोने में गड्ढा खोदकर फसल के अवशेष को गड्ढे में एकत्रित कर कंपोस्ट खाद बना लें। जिससे फसल उत्पादन लागत काम आएगी, और मिट्टी की उर्वरा शक्ति भी अच्छी होगी। लेखपाल शैलेंद्र कुमार ने बताया कि फसल के अवशेष से कंपोस्ट खाद बनाने के लिए सरकार अनुदान दे रही है। जिसके लिए इच्छुक कृषक आवेदन कर सकते हैं। वहीं जिन किसान भाइयों के खेत गौशाला के नजदीक हैं वे फसलों के अवशेष को गौशाला में पहुंचा सकते हैं अथवा फसलों के अवशेष को इकट्ठा करके गौशाला संचालक को बता सकते हैं। इस मौके पर नारायनपुर प्रधान अमृतलाल लोधी, भौसी प्रधान सुरेंद्र बहादुर सिंह, विपिन कुमार, राजाराम सहित दर्जनों की संख्या में जागरूक कृषक मौजूद रहे।

Total Page Visits: 66 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *