खबर अच्छी है सलोन के समसपुर पछी बिहार में आने लगे विदेशी परिंदे

Raebareli

रायबरेली जिले के सलोन में बे समसपुर पक्षी विहार में अब विदेशी परिंदों का आना शुरू हो गया है। देवी एवं विदेशी पक्षियों के कलरव से पक्षी विहार भी अब चहकने लगा है। यह अलग ई बात है कि यह पक्षी बिहार अब बद इन्तजामी का शिकार हो गया है। रायबरेली की सड़कों की जर्जर हालत से तो सभी परिचित हैं लेकिन यहां का आकर्षण माना जाने वाले समसपुर पक्षी विहार की हालत और भी जर्जर है। कहने को तो इस पक्षी विहार के रखरखाव के लिए सरकार की ओर से प्रबंध किए जाते हैं लेकिन यहां की बदतर हालत देखते हुए आप आसानी से ये अंदाजा लगा सकते हैं कि शायद ही इसके मेंटिनेन्स पर 1 भी रुपये खर्च किया गया हो। बता दें कि किसी जमाने में समसपुर पक्षी विहार काफी खूबसूरत पार्क माना जाता था जहां विदेशी पक्षी प्रवास के लिए आते हैं किन्तु अब रख रखाव के अभाव में बदहाल है।
रायबरेली के सलोन-उचांहार मार्ग पर भोलागंज बाजार से करीब तीन किमी की दूरी पर समसपुर पक्षी बिहार है। यहां पर यूरोप व साइबेरिया देश से करीब 300 प्रजातियाों के पक्षी अक्तूबर से जनवरी माह तक प्रवास करते हैं। छह झीलों से बना पक्षी विहार आज गंभीर उपेक्षा का शिकार है। यहां पर पहुंचने वाली सड़क गड्ढ़ों में तब्दील हो गई है।
रायबरेली के सलोन-उचांहार मार्ग पर भोलागंज बाजार से करीब तीन किमी की दूरी पर समसपुर पक्षी बिहार है। यहां पर यूरोप व साइबेरिया देश से करीब 300 प्रजातियाों के पक्षी अक्तूबर से जनवरी माह तक प्रवास करते हैं। छह झीलों से बना पक्षी विहार आज गंभीर उपेक्षा का शिकार है। यहां पर पहुंचने वाली सड़क गड्ढ़ों में तब्दील हो गई है।

अरुण पांडेय की रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *