एडी ने किया सीएचसी शिवगढ़ का औचक निरीक्षण, मचा हड़कम्प

Raebareli Uttar Pradesh निरीक्षण

रायबरेली। अपर निदेशक स्वास्थ्य डॉ. आलोक कुमार ने बुधवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवगढ़ का औचक निरीक्षण किया, जिनके औचक निरीक्षण से सीएचसी में हड़कम्प मच गया। दोपहर करीब 1 बजे सीएचसी पहुंचे डॉ.आलोक कुमार ने उपस्थित रजिस्टर, औषधि वितरण कक्ष, एक्सरे रूम, पैथोलॉजी कक्ष आदि का बारीकी से निरीक्षण किया एवं वार्ड में भर्ती मरीजों से बात की।
बाहर से लिखी जा रही दवा के बाबत उन्होंने सीएचसी अधीक्षक को हिदायत दी और कहा कि किसी भी दशा में बाहर से दवायें न लिखी जाएं।

सक्षम आफिस पहुंचे एडी ने केएमसी को करीब से जाना

अपर निदेशक ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने के पश्चात सीएचसी परिसर में स्थित केएमसी लाउन्ज को देखा, केएमसी को करीब से जानने और कम्युनिटी एंपावरमेंट लैब समक्ष शिवगढ़ के कार्यों को समझने के लिए अपर निदेशक डॉ.आलोक कुमार शिवगढ़ राजमहल स्थिति सक्षम ऑफिस पहुंचे जहां उन्हें अग्रिमा आरती साहू ने विस्तार से कंगारू मदर केयर के बारे में बताया। कम्युनिटी एंपावरमेंट लैब द्वारा समूची यूपी में चलाई जा रही केएमसी क्रांति की एडी ने जमकर सराहना की। एडी ने कहाकि ग्रामीण अंचल में नवजात शिशुओं और केएमसी माताओं को केएमसी लॉउन्ज के माध्यम से नि:शुल्क वीआईपी सुविधाएं मिल रही है जो निश्चित रूप से काबिले तारीफ है। विदित हो कि 2003 में कम्युनिटी एंपावरमेंट लैब ‘सक्षम’ शिवगढ़ के संस्थापक डॉ.विश्वजीत कुमार ने उन विषम परिस्थितियों में केएमसी की शुरुआत की थी जब यूपी में सर्वाधिक नवजात शिशु मृत्यु दर थी। परिणाम स्वरूप चंद महीनों में केएमसी से नवजात शिशु मृत्यु दर में 54% कमी आ गई। वर्तमान समय में कम्युनिटी एंपावरमेंट लैब, प्रदेश सरकार और एनएचएम के समन्वित सहयोग से समूची यूपी में केएमसी क्रांति चलाई जा रही है। केएमसी क्रांति में कम्युनिटी एंपावरमेंट लैब तकनीकी सहयोग प्रदान कर रही है। प्रदेश में स्थापित 174 केएमसी लाउन्जों के माध्यम से नवजात शिशुओं और केएमसी माताओं को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल रही हैं। इस मौके पर सीएचसी अधीक्षक डॉक्टर एलपी सोनकर, स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी जयराम यादव आदि लोग मौजूद रहे।

Total Page Visits: 252 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *