रायबरेली के सिक्खों में तो न था वर्चस्व का खूनी संघर्ष, फिर क्यों की गई रोहित गांधी की हत्या

Uncategorized

सन्दीप मिश्रा

रायबरेली। त्यौहारों पर ने भले ही जिले की पुलिस को त्योहार में अलर्ट रहने के निर्देश दिए हो। लेकिन ठीक रक्षा बंधन के दिन 5 बहनो के अकेले भाई की हत्या गोली मारकर कर दी जाती है। थाना मिल एरिया क्षेत्र में देर शाम एक सिख रोहित गाँधी नामक युवक को कार सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। बताते हैं कि हमलावर युवक को गोली मारने के बाद भाग खड़े हुए । घटना क्रम के मुताबिक व्यापारी रोहित गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। बताते हैं कि कुछ दिन पूर्व मृतक का एक युवक के साथ विवाद हुआ था। दोनों तरफ से मामला पुलिस के पास भी पहुंचा था। लेकिन कोई उचित कार्रवाई नहीं हुई थी । बल्कि लेनदेन कर पूरा मामला समाप्त बता दिया गया। जिस युवक के साथ विवाद हुआ था वह सट्टे और जुआ की फड़ लगवाने का बहुत बड़ा शातिर सरदार बताया जा रहा है। यही कारण है कि दबी जबान से लोग कह रहे हैं कि जनपद में याद नहीं आता है कि कभी सिख समाज के किसी युवक की वर्चस्व के लिए हत्या की गई हो। लोगों का कहना है कि लाखों रुपए की लगने वाली सट्टे की दुकान ही राखी के दिन पांच बहनों के बीच अकेले भाई को गोली मारने का कारण बनी है । क्योंकि हमलावर और मृतक दोनों की दोस्त बताए जाते हैं।

Total Page Visits: 636 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *