कोरोना संकटकाल में तीन माह से मनरेगा मजदूरों को नही मिली मजदूरी

Lucknow Uttar Pradesh

● मजदूरी न मिलने से नाराज मजदूरों ने किया हंगामा ,मौके पर पहुंची पुलिस ने समझा बुझा कर कराया शांत ,

मुकेश रावत

सरोजनीनगर। विकासखंड सरोजनी नगर की ग्राम पंचायत लोनहा में मनरेगा मजदूरों का तीन महीने से मजदूरी का पैसा ग्राम प्रधान व सचिव अनिल कुमार मौर्य द्वारा न दिये जाने को लेकर गाँव के मनरेगा मजदूरों ने ग्राम प्रधान से मनरेगा मजदूरी के रूपये देने की मांग की । जिस पर ग्रामीणों का आरोप था कि उन्हें तीन माह के काम का अभी तक मजदूरी के रूपये नहीं मिल सके है । जिस पर ग्रामीणों ने रविवार को ग्राम प्रधान से पुनः रूपये की मांग की । ग्रामीण मजदूरों का कहना था कि कल रक्षाबंधन त्योहार है । हमें रूपये चाहिए। क्यों कि बिना रुपए के हम सभी मजदूर गण अपना त्योहार कैसे से मनाएंगे । जि सको लेकर आज सभी मजदूर ग्राम सभा स्थित गौशाला पर मौजूद ग्राम प्रधान लोनहा कल्लू पाल से गौशाला पर जा पहुं चे । ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर प्रधान से फिर रूपये की मांग की । जिस पर ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों से अभद्र भाषा का प्रयोग कर अभद्रता की । जिसके चलते मामला ग्राम प्रधान व मनरेगा मजदूरों के बीच तू तू में में तक होने लगी ,मामला बढ़ते देख सूचना पर बन्थरा पुलिस भी मौके पर पहुंच गई । ग्राम प्रधान व मजदूरों के बीच हो रही तू तू में में को पुलिस ने दोनों पक्षों को समझा बूझकर मामले को शांत कराया ।यही नहीं इसके अलावा ग्रामीणों ने गौ शाला में शनिवार को चार गायों की मौत हो गई ,।इसके अलावा देख रेख के अभाव में अब तक तमाम गाय मौत के मुंह में शमा चुकी है ,।उनका आरोप है कि गायों को चारा पानी की व्यवस्था नहीं हो पाने के कारण ही गाय लगातार मर रही है!जिसको देखने वाला कोई भी विभागीय अधिकारी व कर्मचारी नहीं है ।जब सरकार गायो की देखभाल व खाने पीने के लिए धन उपलब्ध करा रही है तो ऐसा क्यों हो रहा है ।इसके लिए बीमार होने वाली गा यो का इलाज भी हो सकता है ।अगर ऐसा हो तो गा यो की मौत नहीं होगी ।

Total Page Visits: 70 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *