घूस लेते वीडियो वायरल, लेखपाल निलम्बित

Uttar Pradesh क्राइम

टी.पी.यादव

महराजगंज,रायबरेली। महराजगंज तहसील क्षेत्र के दहिगवां ग्राम पंचायत के हल्का लेखपाल रामसमुझ का पैमाइश के नाम पर रिश्वत लेने का वीडियो वायरल होने के पश्चात महराजगंज एसडीएम विनय कुमार मिश्रा ने तत्काल प्रभाव से हल्का लेखपाल रामसमुझ को निलंबित कर दिया है।
विदित हो कि शिवगढ़ थाना क्षेत्र के दहिगांवा ग्राम पंचायत के रहने वाले अयोध्या प्रसाद मौर्य ने जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई है कि हल्का लेखपाल रामसमुझ ने खेत की सही माप करने को लेकर उसे अपने घर बुलाया और उससे कहाकि कि 10000 दे दो तुम्हारे खेत की सही माप कर दूंगा। आरोप है कि किसान के पास 10000 रुपये नही थे,जिसके चलते किसान ने 5000 रुपये ही लेखपाल को दिए। लेकिन किसान ने चतुराई से रुपये देते समय का वीडियो बनवा लिया। पीड़ित किसान ने आरोप लगाया है कि लेखपाल ने कहा कि बाकी के 5000 रुपये दोगे तभी सही माप करुंगा। जब किसान ने बाकी के 5000 नही दिए तो लेखपाल ने किसान के ऊपर दबाव बनना शुरू कर दिया। और कहने लगा कि बाकी के 5000 रुपये दोगे तभी सही माफ करुंगा। जिससे परेशान किसान ने 29 जुलाई को जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई थी। वहीं लेखपाल का रिश्वत लेने का वीडियो वायरल होने पर हल्का लेखपाल रामसमुझ का कहना था कि वीडियो उनका नही है फर्जी बदनाम किया जा रहा है, उन्होंने किसी से रुपये नही मांगे हैं और न ही रुपये लिए हैं। हांलाकि यह तो जांच का विषय है। फिलहाल महराजगंज एसडीएम विनय कुमार मिश्रा का कहना है कि वीडियो देखने में आया है जिसमें लेखपाल रामसमुझ द्वारा एक व्यक्ति से पैमाइश के नाम पर रिश्वत लिए जाने की प्रथम दृष्टया पुष्टि हुई है। जिसके क्रम में लेखपाल रामसमुझ को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। उनके विरुद्ध विभागीय कार्यवाही की संस्तुति करते हुए तहसीलदार महराजगंज को जांच अधिकारी नामित किया गया है। जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात जो भी उचित दण्ड होगा,दण्डादेश के हिसाब से दिया जाएगा। एसडीएम विनय कुमार मिश्रा ने कहा कि स्थानीय प्रशासन की छवि धूमिल हुई है। जो किसी भी स्तर से स्वीकार नही है।

Total Page Visits: 550 - Today Page Visits: 6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *