बिबियापुर घाट प्रधान पति ने फर्जी हस्ताक्षर कर निकाले 32 लाख रुपए

Uttar Pradesh घोटाला बाराबंकी

मुन्ना सिंह

बाराबंकी। विकास खंड सिद्धौर क्षेत्र की ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट में लगभग 32 लाख रुपए ग्राम प्रधान ने ग्राम पंचायत सचिव के फर्जी हस्ताक्षर बनाकर निकाल लिए हैं, जिसमें सबसे बड़ी बात यह है कि जब शासन द्वारा चेक से भुगतान पर रोक लगा दी गई थी। तो बैंक के कर्मचारियों द्वारा कैसे भुगतान कर दिया गया,जो संदेह के घेरे हैं। सिद्धौर ब्लाक की ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट की ग्राम प्रधान अंजू देवी और ग्राम पंचायत सचिव रामकिशोर वर्मा का ग्राम निधि और एसबीएम शौचालय का खाता बैंक ऑफ इंडिया शाखा सिद्धौर में संचालित है। जिसके बाद एसबीएम शौचालय का लगभग 19 लाख रुपए तथा ग्राम निधि प्रथम का लगभग 13 लाख रुपए ग्राम प्रधान ने ग्राम पंचायत सचिव के फर्जी हस्ताक्षर बनाकर चेक के माध्यम से बैंक ऑफ इंडिया शाखा जीयनपुर से भुगतान करा लिया है। जबकि सबसे बड़ी बात यह है कि प्रशासन द्वारा 5 अगस्त 2019 को ही चेक के माध्यम से भुगतान से पूरी तरह रोक लगा दी गई थी।और ग्राम पंचायत का कोई भी भुगतान केवल पीएफएस से ही किया जाएगा। फिर भी बैंक के अधिकारियों और ग्राम प्रधान ने मिलकर चेक के माध्यम से खाते से 32 लाख रुपए निकाल लिए। ग्राम पंचायत सचिव कोई इसकी भनक तक नहीं लगी। शुक्रवार को जब मामला प्रकाश में आया तो ग्राम पंचायत सचिव के पैरों तले से जमीन खिसक गई। उन्होंने यह मामला अपने संगठन में पहुंचाया ब्लॉक मुख्यालय पर ब्लॉक अध्यक्ष कुलदीप वर्मा के नेतृत्व में ग्राम पंचायत सचिवों की एक बैठक की गई। जिसमें यह चर्चा की गई कि जब प्रशासन ने 5 अगस्त 2019 को ही चेक के माध्यम से भुगतान पर रोक लगा दी थी, तो फिर चेक से बैंक द्वारा भुगतान कैसे हो गया। ग्राम पंचायत सचिव रामकिशोर वर्मा ने बताया कि उन्होंने किसी भी चेक पर कहीं हस्ताक्षर भी नहीं बनाए हैं। जो हस्ताक्षर चेक पर प्रधान द्वारा बनाकर भुगतान कराया गया है। वह पूरी तरह से फर्जी है।जिसको लेकर ग्राम पंचायत सचिव आक्रोशित हो गए और तत्काल बैंक ऑफ इंडिया शाखा सिद्धौर पहुंच गए। जहां शाखा प्रबंधक आलेख यादव से चर्चा की कि जब चेक से भुगतान पर रोक लगी थी तो फिर चेक के माध्यम से भुगतान कैसे कर दिया गया। जिसका शाखा प्रबंधक कोई जवाब नहीं दे सके। आक्रोशित ग्राम पंचायत सचिव बैंक से बाहर निकल आए और उन्होंने कहा इसकी शिकायत पुलिस से कर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी सर्वेश तिवारी का कहना है ग्राम पंचायत बिबियापुर घाट में फर्जी तरीके से लाखों रूपए निकलने का मामला आज ही मेरे संज्ञान में आया है। इस प्रकरण की जांच कराई जाएगी और जो भी दोषी पाया गया उसके खिलाफ प्रशासनिक कार्यवाही की जाएगी। इस मौके पर सुनील कुमार नंदा, दीपक कुमार नवीन कुमार, रवि अवस्थी,संजय चौधरी, आकाश पटेल, रामकशोर आदि सचिव मौजूद रहे।

Total Page Visits: 181 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *