हत्या के प्रयास एवं फायरिंग के मामले में दर्ज मुकदमें में नही हुई गिरफ्तारी

Raebareli Uttar Pradesh अपराध

 संदीप मिश्रा

रायबरेली। महामारी में जहां पुलिस एक योद्धा की तरह सड़कों पर उतर कर लोगों को न्याय दिलाने क्यों भरोसा दे रही है। वह भरोसा कहीं ना कहीं रायबरेली की पुलिस तोड़ती हुई नजर आ रही है। यही कारण है कि गदागंज थाने की पुलिस गंभीर अपराधों में भी मुकदमा पंजीकृत करने के बाद गिरफ्तारी के नाम पर उसे समाज में खुला छोड़ देती है। थाना क्षेत्र के धरकारन मजरे गौरा हरदो निवासी देशराज की पत्नी ममता ने रिपोर्ट लिखाई है कि गांव के ही राजकुमार ,दद्दू ,हरिलाल, धर्मेंद्र कुमार, रावेंद्र ,किशन, बबलू, सुरेंद्र, जितेंद्र ,राजकुमारी ,संपाता, सावित्री, आशा देवी आज ने मिलकर 14 साल 2020 को समय लगभग 6:00 बजे एक राय होकर हाथों में बल्लम भाला और लाठी-डंडों से लैस होकर आये। जिसमें दद्दू के हाथ में कट्टा था । रिपोर्ट में लिखा है कि पीड़ित परिवार को मां बहन की भद्दी भद्दी गालियां देते हुए घर का दरवाजा तोड़कर घर में घुस गए और वहां रखा सामान आदि तोड़ दिया । यही नही घर में मौजूद उसके पति देशराज जेठ हनुमान ससुर संतराम व देवर सुनील पर सभी विपक्षियों ने जानलेवा हमला बोल दिया और सभी पर कुल्हाड़ी कर गड़सा से हमला कर उन्हें घायल कर दिया। वहीं देशराज के ऊपर कट्टे से गोली मार दी । गोली देशराज कनपटी के बाएं तरफ लगी जिससे गंभीर चोट आई। शोर मचाने पर मोहल्ले के बहुत से लोग एकत्र हो गए। रिपोर्ट में बताया है कि घटना के दिन सुबह विपक्षी दल दरवाजे पर जबरदस्ती नीव खोद कर निर्माण कर रहे थे। जिसकी शिकायत थाने में की गई थी परंतु होने पर उक्त लोगों ने इस गंभीर घटना को अंजाम दिया । बताते हैं घायलों को एच एस सी गौरा इलाज हेतु भेजा गया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें गंभीर हालत देखते हुए रायबरेली जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा अपराध संख्या 167/ 2020 के तहत धारा 147, 148, 149, 307, 323, 324 ,427, 452, 504 आईपीसी के तहत मुकदमा पंजीकृत किया ।परंतु अभी तक किसी भी आरोपी की गिरफ्तार नही कर पाई है। पीड़ित परिवार ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है।

Total Page Visits: 23 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *