जिला पंचायत के खिलाफ षड्यंत्र रचने वाले हुए बेनकाब : दिनेश प्रताप सिंह

Raebareli Uttar Pradesh

धैर्य शुक्ला

रायबरेली। एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि उच्च न्यायालय में जिला पंचायत के विरुद्ध जो याचिका रोपित की गई थी उच्च न्यायालय ने उस पर निर्णय देते हुए जिला पंचायत में किसी भी प्रकार की अनियमितता ना पाए जाने, किसी को मतदान से न रोके जाने आदि चीजों को स्थापित करते हुए जिला पंचायत के पक्ष में निर्णय दिया है। श्री सिंह ने कहा कि जिन लोगों ने याचिका दाखिल की थी उन लोगों को आज करारी निराशा हाथ लगी है। असत्य पर सत्य की जीत हुई है। याचिका दाखिल करने में कांग्रेस की प्रियंका गांधी वाड्रा पूरी तरह से संलिप्त थी। उनके ओएसडी धीरज श्रीवास्तव पास बनवा कर लगातार हाईकोर्ट में पैरवी करने जाते थे। श्री सिंह ने कहा कि राजनीति में इस प्रकार का विरोध बहुत कम देखने को मिलता है। प्रियंका गांधी खुद एक बड़ी नेता है मैं तो जिले स्तर का नेता हूं। लेकिन दुख इस बात का है कि एक बड़े नेता को इतने नीचे स्तर तक गिरते हुए मैंने पहली बार देखा है। जिला पंचायत जो रायबरेली के कामों को कर रही थी उसको अस्थिर करने के लिए प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार पैरवी कर रही थी। और हाईकोर्ट में विवेक तंखा जो सुप्रीम कोर्ट के वकील है उनके निर्देश पर पैरोकारी रहे थे। सलमान खुर्शीद जो कांग्रेस के नेता और सुप्रीम कोर्ट के सीनियर वकील भी हैं उच्च न्यायालय में पैरोंकारी करते थे। लेकिन निश्चित तौर पर आज न्याय की जीत हुई है, रायबरेली के विकास की जीत हुई है। रायबरेली के उन जिला पंचायत सदस्य की जीत हुई है जो विकास के साथ थे। न्यायालय के फैसले से रायबरेली के विकास को गति मिलेगी। श्री सिंह ने कहा कि पंचवटी परिवार के लगातार बढ़ रहे राजनीतिक कद व लोकप्रियता से बौखलाई कांग्रेसी की गंदी राजनीति व ओछी मानसिकता एक बार फिर बेनकाब हो गई है। साम दाम दंड भेद को अपनाकर जिला पंचायत रायबरेली को अस्थिर करने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देने वाली कांग्रेश की आखरी उम्मीद प्रियंका गांधी और उनके सेनापति श्रीवास्तव द्वारा चलाई गई षडयंत्र की आंधियां भी रायबरेली के चिराग को बुझाना तो दूर उसकी लौ तक मद्धिम नहीं कर पाई।

Total Page Visits: 236 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *