आशा और आशा संगिनी को मिली प्रोत्साहन राशि

कोरोना वायरस बुलन्दशहर

कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग के साथ जिम्मेदारी निभा रही आशा- संगिनी

रेनू शर्मा

बुलंदशहर।कोरोना संक्रमण काल में अपनी अहम जिम्मेदारी निभा रही आशा और आशा संगिनी को सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जा रही है। सरकार द्वारा आशा कार्यकर्ताओं को हर महीने प्रोत्साहन राशि के रूप में 1000 और संगिनी को 500 रुपये दिए जा रहे हैं। जनपद में आशा और आशा संगिनी के खाते में अप्रैल और मई महीने की प्रोत्साहन राशि भेज दी गई है। कोरोना संक्रमण काल में आशा-संगनी की मेहनत और लगन को देखते हुए सरकार ने यह फैसला किया है।जिला समुदाय कार्यक्रम प्रबंधक (डीसीपीएम) डॉ कुलदीप कुमार ने बताया जिले में ग्रामीण क्षेत्र में 2234 आशा और शहरी क्षेत्र में 152 आशा समेत 1386 आशा कार्यकर्ता हैं। इसके अलावा कुल 115 आशा संगिनी हैं। जनपद में तैनात सभी आशा और आशा संगनी दिन-रात मेहनत कर रही हैं। कोरोना काल में आशा कार्यकर्ता शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में घर घर जाकर प्रवासी मजदूर, बाहर से आने वाले लोगों, देश के दूसरे राज्यों या विदेश से आने वाले लोगों का सर्वे कर रही हैं। गांव मोहल्लों में बनाई गई निगरानी समिति में भी आशा वर्कर को शामिल किया गया है। कोरोना संक्रमण काल में आशा कार्यकर्ता जिम्मेदारी निभाते हुए अपने क्षेत्रों की सूचना स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों तक पहुंचा रही हैं। इस संक्रमण के दौर में जान जोखिम में डालकर वह काम कर रही हैं। ऐसे में उन्हें सरकार ने प्रोत्साहन राशि देने का निर्णय लिया है।अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (आरसीएच) डॉ. रोहताश यादव ने बताया कि शासन के निर्देश पर आशा व आशा संगिनी के खातों में अप्रैल व मई की प्रोत्साहन राशि भिजवा दी गई है। जल्द ही मार्च और जून की भी प्रोत्साहन राशि भिजवा दी जाएगी। उन्होंने बताया यह प्रोत्साहन राशि आशा और आशा संगिनी को अग्रिम आदेशों तक मिलती रहेगी।पहासू ब्लाक के गांव सालाबाद निवासी आशा संगनी समीना बेगम का कहना है कि आशा जान जोखिम में डालकर काम कर रही हैं। प्रोत्साहन राशि देने का सरकार का फैसला उचित है। जयरामपुर की आशा सपना का कहना है कि प्रोत्साहन राशि मिलने से हम और जिम्मेदारी से काम करेंगे। यह फैसला आशा और आशा संगिनी के कार्य में नई ऊर्जा का कार्य कर रहा है।

Total Page Visits: 141 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *