तहसील प्रशासन ने भूमाफियाओं के चंगुल से 13 करोड़ की सरकारी जमीन को कराया मुक्त

Raebareli Uttar Pradesh

जमीन मुक्त कराने से मची सफेदपोशों में खलबली

मुकेश रावत

सरोजनीनगर,लखनऊ। मंगलवार को सरोजनीनगर तहसील का प्रशासनिक अमला भू माफियाओं के चंगुल से 13 करोड़ की सरकारी जमीन पर अवैध तरीके से कब्जा करके भू माफियाओं द्वारा की गई प्लाटिंग को मुक्त करा दिया।लगातार तहसील प्रशासनिक अमले द्वारा की जा रही भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई से क्षेत्र के सरकारी जमीन के अवैध कब्जे दार भू माफियाओं तथा इनके संरक्षण कर्ता राजनैतिक सफेदपोश धारियों में खलबली मच गई है।मंगलवार को उपजिलाधिकारी सरोजनीनगर प्रफुल्ल त्रिपाठी के निर्देश के क्रम में नायब तहसीलदार मनीष त्रिपाठी, राजस्व निरीक्षक जितेन्द्र सिंह, लेखपाल धर्मेन्द्र , संजय शुक्ला के साथ सरोजनीनगर तहसील के ग्राम बिजनौर की गाटा संख्या 1434 जो ऊसर के रूप में दर्ज है।जिसका कुल रकबा 1.698 हेक्टेयर (लगभग 7 बीघा) है।जिसपर प्रीति नगर क्वा. हाउसिंग सोसाइटी लिमिटेड द्वारा अवैध रूप से प्लाटिंग व दीवार से घेरकर कब्जा किया गया था।जिसको मंगलवार को हटवा दिया गया है।जिसका मूल्य जिलाधिकारी द्वारा निर्धारित सर्किल रेट के हिसाब से कुल लगभग ₹ 13 करोड होगी। अब तक उपजिलाधिकारी प्रफुल्ल कुमार त्रिपाठी द्वारा क्षेत्र में भू माफियाओं के चंगुल से बड़े पैमाने पर सरकारी जमीन को मुक्त कराया जा चुका है। प्रशासनिक अमले द्वारा जिस तरीके से अवैध कब्जेदारों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसको लेकर भू माफियाओं के ही होश फाख्ता नहीं हुए हैं,बल्कि जिन राजनैतिक आकाओं के संरक्षण में अब तक यह जमीन की अवैध कब्जेदारी का धंधा फल फूल रहा था, उनकी भी नींद उड़ गई है। शासन के सख्त निर्देशों के बाद प्रशासनिक अमला सफेदपोशधारियों की भी इस कार्रवाई में एक नहीं सुन रहा है। अब देखने वाली बात यह होगी कि आगे भी इस तरीके की कार्रवाई प्रारंभ होती रहती है या नहीं ।जिससे भविष्य में भू माफिया चाह कर भी सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जा करने की हिमाकत न जुटा सकें।

Total Page Visits: 45 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *