सरकारी नुमाइंदे लगा रहे स्वच्छ भारत अभियान को पलीता

Raebareli Uttar Pradesh

मुस्तकीम अहमद

नसीराबाद,रायबरेली। केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत अभियान के तहत ग्रामीण अंचलों में बनाए जा रहे इज्जत घर (शौचालय) में अनियमितता और कोई नहीं बल्कि सरकार के नुमाइंदे ही बरतकर स्वच्छ भारत अभियान को पलीता लगा रहे हैं। केंद्र और यूपी  की सरकार दावा किया था कि ग्रामीण अंचलों की बहू और बेटियां बाहर शौच के लिए नहीं जाएंगी जिसके तहत सरकार ने लाभार्थियों के खातों में ओडियफ के तहत दो किस्तों में शौचालय बनाने हेतु योजना बनाई गई थी यही नहीं इस योजना के तहत सरकार ने एक समय भी निर्धारित किया था इसके बावजूद जिम्मेदार नौकरशाह  अभी तक पूर्ण तरीके से शौचालय का निर्माण नहीं करा पाए हैं जिसका नतीजा यह है कि आज भी ग्रामीण अंचलों की बहन बेटियां और बहुएं खुले में शौच जाने के लिए मजबूर हैं।

यही आलम छतोह ब्लॉक के विभिन्न ग्राम पंचायतों में है विदित हो कि छतोह ब्लाक के ग्राम पंचायत जैसे डीघा, छतोह, चतुरपुर, गढ़ा सुलईपुर,  लहेगा , बेढौना ,जगतपुर, चंदाबाईपुर, बरावां, महानंदपुर, सण्डहा, पूरे राई, कोलवा, बरखूदारपुर, हाजीपुर,भेलिया, दोस्तपुर बुडवारा, गढ़ा, काजीपुर तेलियानी, कुंवर मऊ, भेेलिया,सरांय, कुढ़ा, परैयानमक सार आदि ग्राम पंचायतों में आज भी शौचालय आधे अधूरे पड़े हैं कई लोगों को तो शौचालय भी नसीब नहीं हुआ है जिनके आधे अधूरे शौचालय बन भी गए हैं तो उनके खाते में पैसा आज तक नसीब नहीं हुआ ग्रामीण महिलाओं का कहना है कि संसदीय चुनाव होने के पूर्व राज्य से लेकर केंद्र  तक की सरकार सुलभ शौचालय इज्जत घर इतनी तेजी पकड़ी थी कि लगता था की एक-एक घर में सुलभ शौचालय बनकर तैयार हो जाएगा परंतु सरकार के मातहित ही सरकार को बदनाम करने में लगे हैं महिलाओं ने यहां तक कहा कि फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार ने ओडीएफ पर ही एक फिल्म बनाई थी जिनकी पूरे देश भर में खूब चर्चा हुई थी पर ऐसी फिल्म से क्या फायदा जो केवल फिल्म कहानी से लेकर सिनेमाघरों तक ही सुलभ शौचालय (इज्जत घर)  सिमट कर रह जाए ग्रामीण मकसूद अहमद, प्रदीप कुमार पांडे, विनोद कुमार तिवारी ,लल्लू तिवारी, संतोष सिंह, सुशील कुमार सिंह, बब्बन खां, पूनम, किस कुमार यादव ,उदय राज यादव ,रामशंकर वर्मा, राम सजीवन सरोज, संतराम सरोज, मोहम्मद शरीफ,लाल मोहम्मद,ताहा आदि लोगों का कहना है कि ग्राम पंचायतों में दर्जनों लोग ऐसे हैं कि आज तक इज्जत घर नसीब नहीं हुआ जिनके आधे अधूरे बन भी गए हैं तो उनके खाते में आज तक पैसा नहीं आया है ग्राम पंचायत डीघा सचिव सचिन कुमार ने बताया कि दो किस्तों में पैसा भेजने का नियम है ग्राम सभा डीघा में दो किस्तों में पैसा भेजा जा चुका है इसके बावजूद भी अभी बहुत से लाभार्थियों का पैसा भेजना है सचिव से और कई सवाल किया गया तो सचिव ने अपने आप को फंसता देख अपना किनारा खींचते हुए बोले कि अभी हम हाल ही में आए हैं इस पूरे मामले पर खंड विकास अधिकारी छतोंह विजेंद्र कुमार सिंह के शियूजी नंबर पर समय 3:53 पर बात करना चाहा तो वीडियो  का मोबाइल स्विच ऑफ बतायाजिसके बाद जिला पंचायत राज अधिकारी (डीपीआरो) के मोबाइल नंबर पर संपर्क साधा गया तो जनाब का फोन ही नहीं उठा ।

Total Page Visits: 135 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *