कोरोना मरीजों के लिए तय की गई इलाज की दरें

कोरोना वायरस बुलन्दशहर

⚫ उत्तर प्रदेश शासन ने निर्धारित की दरें

⚫ सीईओ ने सभी सीएमओ को लिखा पत्र

बुलंदशहर। वायरस कोविड – 19 लड़ने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार लगातार कार्य कर रही है। इसी दिशा में सरकार ने कोरोना के मरीजों कि आयुष्मान योजना के लाभार्थी हैं उनको उचित दर पर इलाज मिले इसके लिए उपचार की दरों की घोषणा कर दी है। यह जानकारी जिले के आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नोडल अधिकारी डॉ सुष्पेंद्र कुमार ने दी है।
नोडल अधिकारी डॉ सुष्पेंद्र कुमार ने बताया कि जिले में लौट रहे प्रवासी जो आयुष्मान भारत योजना के कार्ड धारक हैं। उनके लिए शासन स्तर से उपचार हेतु दरों का निर्धारण कर दिया गया है। जनरल वार्ड (आइसोलेशन) में भर्ती संक्रमित व्यक्तियों पर प्रति शैया प्रति दिन 1800 रुपये, हाईडिपेन्सी यूनिट (आइसोलेशन) में भर्ती संक्रमित व्यक्तियों पर प्रतिदिन 2700 रुपये, आई0सी0यू0 (वेन्टीलेटर रहित) में भर्ती संक्रमित व्यक्तियों पर प्रतिदिन 3600 रुपये एवं आई0सी0यू0 (वेन्टीलेटर सहित) में भर्ती संक्रमित व्यक्तियों पर प्रतिदिन 4500 रुपये उपचार पर खर्च करने का प्रावधान किया गया है। जनपद में वापस आ रहे प्रवासियों के लिये 25 क्वारंटीन सेन्टर बनाये गये हैं।
उन्होनें बताया इस संबंध में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की मुख्य कार्यपालक अधिकारी संगीता सिंह ने प्रदेश के सभी सीएमओ को पत्र लिखा है। तय दर से प्रतिदिन के हिसाब से सम्बन्धित केन्द्र पर ही भुगतान किया जायेगा। पत्र में निर्देशित किया गया है कि वायरस कोविड –19 से संक्रमित आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना के लाभार्थियों के उपचार पर हुये व्यय की प्रर्तिपूति के सम्बन्ध में दरें निर्धारित की जा चुकी हैं। जिले में जिन चिकित्सालयों में कोरोना के मरीज भर्ती हैं उनमें आयुष्मान योजना के लाभार्थियों का उपचार तय दर पर ही किया जायेगा।
गौरतलब है कि जिले कुछ चिकित्सालयों को कोविड-19 समर्पित चिकित्सालय घोषित किया गया है। इसके साथ ही आयुष्मान योजना के अन्तर्गत उन्हीं का उपचार किया जा सकता है जो गोल्डन कार्डधारक हैं। यदि योजना अन्तर्गत चिन्हित लाभार्थी का गोल्डन कार्ड नहीं बना है तो आरोग्य मित्र के माध्यम से सम्बन्धित महिला/पुरुष का गोल्डन कार्ड बनवाकर का उपचार कराना सुनिश्चित किया जाए। कोविड-19 के संक्रमण के चलते वर्तमान में योजनान्तर्गत उपचार प्रदान करने हेतु टीएमएस में बायो-मैट्रिक की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है।
बुलंदशहर जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ बीके श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद में अब तक कुल कोविड – 19 से संक्रमित 4679 लोग पाये गये। इसमें से 4467 मामले निगेटिव व 132 पॉजिटिव मिले हैं। जनपद में अभी तक 212 प्रतीक्षा सूची में है। 84 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। जिले में कुल 32 हाटस्पाट स्थल चिन्हित हैं। जहां जिला प्रशासन की देख रेख में विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

Total Page Visits: 234 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *